महाकाल मंदिर में मप्र के बाहर के भक्तों को नहीं मिलेगा प्रवेश, कोरोना संक्रमण के चलते मंदिर समिति ने लिया निर्णय

चैतन्य भारत न्यूज

उज्जैन. उज्जैन स्थित ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में सोमवार से केवल मध्यप्रदेश के भक्तों को प्रवेश दिया जाएगा। मध्यप्रदेश से बाहर के श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। मध्यप्रदेश में रहने वाले श्रद्धालु भी ऑनलाइन प्री- बुकिंग के बाद दर्शन कर सकेंगे। मंदिर समिति ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह निर्णय लिया है।

मंदिर प्रशासक सुजानसिंह रावत के मुताबिक देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में देश के अन्य राज्यों से आने वाले भक्तों का मंदिर में प्रवेश निषेध किया गया है। मंदिर समिति ने बाहरी श्रद्धालुओं से ऑनलाइन दर्शन सुविधा का उपयोग करने का आग्रह किया है।

सोमवार को निकलने वाली महाकाल की सावन सवारी में भी श्रद्धालुओं के आने पर रोक रहेगी। श्रावण मास में सुबह 5.30 से रात्रि 9 बजे तक अलग-अलग समय पर भक्तों को भगवान महाकाल के दर्शन कराए जा रहे हैं। रोज आठ से 10 हजार भक्तों को मंदिर में प्रवेश मिल रहा है। इसके लिए उन्हें प्री- बुकिंग कराना अनिवार्य है। जो भक्त बिना बुकिंग के मंदिर पहुंच रहे हैं, उन्हें 250 रुपए के शीघ्र दर्शन टिकट पर सीधे प्रवेश की व्यवस्था लागू की गई है। प्रशासक ने बताया कि अग्रिम बुकिंग और शीघ्र दर्शन टिकट खरीदने के लिए परिचय पत्र अनिवार्य है। ऐसे में परिचय पत्र के आधार पर देश के अन्य शहरों से आने वाले श्रद्धालुओं का प्रवेश आसानी से बैन किया जा सकता है।

Related posts