उद्धव सरकार ने विधानसभा में साबित किया बहुमत, 169 विधायकों ने दिया समर्थन, बीजेपी का सदन से वॉकआउट

uddhav thackeray

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की कमान मिलने के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की आज पहली अग्निपरीक्षा थी जिसे उन्होंने पास कर लिया है। फ्लोर टेस्ट के दौरान उद्धव सरकार के पक्ष में 169 विधायकों ने वोटिंग की है। इस दौरान बीजेपी ने सदन से वॉकआउट किया। विपक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा। वोटिंग के दौरान कुल 4 विधायक तटस्थ रहे। जानकारी के मुताबिक उद्धव ठाकरे को अपने चचेरे भाई राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) से वोट की उम्मीद थी। लेकिन फ्लोर टेस्ट के दौरान एमएनएस ने सरकार के पक्ष में एक भी वोट नहीं किया।


कार्यवाही शुरू होते ही हुआ हंगामा

बता दें सदन की कार्यवाही दोपहर 2 बजे शुरू हो गई थी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पहली बार विधानसभा पहुंचे। विधानसभा में प्रवेश करने से पहले उद्धव ने शिवाजी की मूर्ति को माला पहनाई और उनका आशीर्वाद लिया। कार्यवाही शुरू होते ही वहां हंगामा हो गया। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विधानसभा अधिवेशन पर सवाल उठाए। उन्होंने इस पूरी प्रक्रिया को असंवैधानिक बताया है।

नियमों और संविधान को तोड़ा गया : फडणवीस

फडणवीस ने कहा कि, ‘आजतक कभी भी जब फ्लोर टेस्ट होता है तो पहले रेगुलर स्पीकर की नियुक्ति के बाद होता है। इसलिए नियमों को ताक पर रखकर प्रोटेम स्पीकर चुना और फ्लोर टेस्ट करवाया। नियमों को और संविधान को तोड़ा गया है। जो सभा संविधान के हिसाब से नहीं चलता उसमें हम शामिल नहीं हो सकते। संविधान के नियमों को उल्लंघन हुआ है इसलिए राज्यपाल को यह कार्यवाही रद्द करनी चाहिए। हम राज्यपाल के पास जाएंगे और उनको अनियमितता का पत्र देंगे।’

भगवान का नाम लेने में क्या गलत है : जयंत पाटिल

इसके बाद एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने कहा कि, ‘शपथ में अगर बड़े नेताओं और हमारे भगवान का नाम लिया तो क्या गलत किया। अगर सम्मान दिया तो क्या गलत किया। फडणवीस को क्या दिक्कत है। विपक्ष ने हंगामा करने की कोशिश की।’ वहीं एनसीपी के ही नेता छगन भुजबल ने कहा कि, ‘फडणवीस को विपक्ष का नेता बनने में प्रतिस्पर्धा नजर आ रही है। वे अभी तक यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि विपक्ष का नेता फडणवीस होंगे या चंद्रकांत पाटिल।’

ये भी पढ़े…

महाराष्ट्र : बहुमत परीक्षण से पहले कांग्रेस ने कर दी डिप्टी CM पद की मांग

फडणवीस सरकार महाराष्ट्र पर छोड़ गई 4.7 लाख करोड़ का कर्ज! कैसे निपटारा करेंगे सीएम उद्धव ठाकरे

उद्धव ठाकरे के हाथ आई महाराष्ट्र की कमान, ली मुख्यमंत्री पद की शपथ

Related posts