मां की हत्या कर अंगों को काटकर खा गया, महाराष्ट्र के सबसे बड़े दरिंदे को मिली सजा-ए-मौत

चैतन्य भारत न्यूज

महाराष्ट्र के कोल्हापुर की एक अदालत ने मां की बर्बरतापूर्वक हत्या के मामले में 35 साल के एक शख्स को फांसी की सजा सुनाई। कोल्हापुर की सेशन कोर्ट गुरुवार को दोषी को यह सजा सुनाई। इस नरभक्षी बेटे ने शराब के लिए पैसों के चक्कर में अपनी मां की हत्या कर दी। इतना ही नहीं फिर उसने मां के शव के टुकड़े पर उसे खा लिया।ऐसे कलयुगी बेटे को अदालत ने सजा-ए-मौत का ऐलान किया है।

सजा के खिलाफ अपील करने के कई विकल्प मौजूद

ये मामला महाराष्ट्र के कोल्हापुर शहर का है। यहां की एक स्थानीय अदालत ने गुरुवार को एक 35 वर्षीय सुनील कुचिकोरवी को मौत की सजा सुनाई। सुनील को अपनी मां की हत्या करने, उसके शरीर को चीरने और उसके अंगों को निकालने का दोषी पाया गया था। घटना 28 अगस्त, 2017 को शहर के मक्कडवाला वसाहट में हुई थी। आरोपी को सजा सुनाते हुए जिला अदालत के जज महेश जाधव ने कहा कि, ऐसा जघन्य मामला आज तक नहीं देखने को मिला है, इसलिए आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। सुनील कुचिकोरवी वारदात के बाद से ही जेल में बंद था। हालांकि, उसके पास अभी सजा के खिलाफ अपील करने के कई विकल्प मौजूद हैं।

आरोपी ने कबूली थी बॉडी पार्ट्स खाने की बात

कोल्हापुर के मक्कडवाला वसाहट इलाके में यह वारदात 28 अगस्त, 2017 को हुई थी। चार्ज शीट के मुताबिक, सुनील ने अपनी 62 साल की मां की चाकू गोदकर हत्या की थी। बुजुर्ग महिला का शव अलग-अलग हिस्सों में कटा हुआ मिला था। हर हिस्से पर नमक-मिर्च लगी थी। पुलिस ने सुनील को जब पकड़ा तो उसके मुंह से खून टपक रहा था। बाद में उसने मां के अंग को खाने की बात कबूल भी की।

Related posts