महाशिवरात्रि पर कुंभ का पहला शाही स्नान, अब तक 22 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने हरिद्वार में लगाईं आस्था की डुबकी

चैतन्य भारत न्यूज

आज देशभर में महाशिवरात्रि की धूम है। भगवान शिव के भक्त सुबह से ही मंदिरों की कतार में लगे हैं। हरिद्वार में महाकुंभ का पहला शाही स्नान आज से शुरू हो चुका है। बारह साल में एक बार आयोजित होने वाला पूर्ण कुंभ मेला इस वर्ष हरिद्वार में आयोजित किया गया है।

महाशिवरात्रि 2020: आखिर क्यों महाशिवरात्रि को कहा जाता है सिद्धि रात्रि? शिव की पूजा से होते हैं दोषमुक्त


बता दें कुंभ मेले की शुरुआत शाही स्नान से होती है। सबसे पहले साधु-संत गंगा में डुबकी लगाते हैं। उसके बाद अन्य लोग स्नान का आनंद लेते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, हरिद्वार में जारी कुंभ के शाही स्नान में अबतक 22 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने डुबकी लगा ली है। अब घाटों को अखाड़ों के लिए खाली कराने की तैयारी की जा रही है। कुंभ मेला में IG पुलिस संजय गुंजयाल ने ये जानकारी दी है।

महाशिवरात्रि 2021: भगवान शिव ने माता पार्वती को बताए थे ये 4 रहस्य, खुशहाल जीवन जीने के लिए आप भी जानें


दरअसल धार्मिक मान्यता है कि कुंभ में स्नान करने से व्यक्ति के रोग दूर होते हैं और सभी पापों से मुक्ति मिलती है, जिससे व्यक्ति मोक्ष प्राप्त करने में सफल होता है। शाही स्नान को राजयोगी स्नान भी कहा जाता है। हिंदू धर्म के अनुसार, देवताओं और राक्षसों द्वारा समुद्र मंथन के बाद अमृत कलश निकला और इस पाने के लिए दोनों पक्षों में लड़ाई हुई। गरूड़ अमृत कलश लेकर आकाश में उड़ गया और रास्ते में हरिद्वार, इलाहाबाद, नासिक और उज्जैन सहित चार स्थानों पर अमृत गिरा। इसलिए कहा जाता है कुंभ मेले के दौरान शाही स्नान करने से अमरत्व की प्राप्ति होती है।

कोरोना काल के बीच आई महाशिवरात्रि को काफी सावधानी के साथ मनाया जा रहा है। राज्य सरकारों ने कई नियम और सावधानियां बरतने की बात कही है, लेकिन शिवभक्तों को कोई दिक्कत ना आए ऐसा प्रबंध भी किया जा रहा है।

शिव-पार्वती के मिलन का पर्व महाशिवरात्रि आज, भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए इस विधि से करें पूजा

 इस महाशिवरात्रि पर बन रहे हैं दो महान योग, शिव साधना से पूरी होगी समस्त मनोकामनाएं

महाशिवरात्रि 2021 : इस बार महाशिवरात्रि पर पंचक, इस दौरान ये कार्य बिलकुल भी ना करें

 

 

Related posts