बुखार की जांच में आदमी को बताया गर्भवती, डॉक्टर क्ल‍िन‍िक बंद कर हुआ फरार

चैतन्य भारत न्यूज

बार-बार बुखार आने से परेशान एक युवक डॉक्टर की सलाह से पैथोलॉजी सेंटर पर टायफाइड की जांच कराने पहुंचा। इस दौरान पैथोलॉजी ने उसे जो रिपोर्ट दी उसे देखकर युवक दंग रह गया। इस रिपोर्ट में युवक को गर्भवती दिखाया गया। यह मामला मध्यप्रदेश के भ‍िंड ज‍िले का है।

इंदौर के एमवाय अस्पताल में योग, मंत्र व हवन से किया जाएगा गर्भवती महिलाओं का इलाज

खबरों के मुताबिक, सुरेश नाम का युवक बुखार से परेशान हो गया था। इसके बाद वह भ‍िंड ज‍िले में फूफ कस्बे के श्याम पैथोलॉजी सेंटर पर टायफाइड की जांच कराने पहुंचा। जांच के बाद दी गई रिपोर्ट में युवक को गर्भवती होना बता दिया गया। यह देख युवक घबरा गया और टायफाइड की सलाह देने वाले डॉ. वी के वर्मा के पास पहुंचा।

घर का काम कर रही गर्भवती महिला के पेट में लगी गोली, पति पर मुकदमा दर्ज

रिपोर्ट देखने के बाद डॉ. वी के वर्मा ने सुरेश को बताया कि, ऐसा कुछ नहीं है। उन्होंने युवक को समझाते हुए कहा कि, घबराने वाली कोई बात नहीं है। इस दौरान डॉ. वी के वर्मा ने सुरेश को किसी दूसरी पैथोलॉजी पर टायफाइड की जांच कराने की सलाह दे दी, लेकिन हैरानी वाली बात तो यह है कि, इसके बाद डॉ. वर्मा भी अपना क्लीनिक बंद कर फरार हो गया है।

खूबसूरती न घट जाए इसलिए निर्दयी मां ने एक महीने की बेटी को स्तनपान कराने से किया मना

गलत रिपोर्ट की जानकारी देने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने फूफ कस्बे की पैथोलॉजी पर छापेमारी कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान स्वास्थ्य विभाग ने श्याम पैथोलॉजी के साथ-साथ जीवन रक्षक पैथोलॉजी और बीआरएस पैथोलॉजी को भी सील कर दिया। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि यह कार्रवाई सिर्फ बगैर रजिस्ट्रेशन चल रही पैथोलॉजी पर की गई है। इसके बाद गलत जांच रिपोर्ट देने के मामले पर भी कार्रवाई  होगी।

ये भी पढ़े… 

गर्भवती महिला को सांप ने डसा, बच्चे को जन्म देने के बाद हुई मौत, नवजात स्वस्थ

गर्भपात का स्टिंग करने गर्भवती बनकर पहुंचीं डिप्टी कलेक्टर, डॉक्टरों ने की हड़ताल

समय रहते नहीं मिला डॉक्टर तो TTE ने चलती ट्रेन में कराई गर्भवती महिला की डिलीवरी

 

 

Related posts