शहीद दिवस: 30 जनवरी को क्यों मनाया जाता है यह दिन? जानें वजह

shahid diwas

चैतन्य भारत न्यूज

भारत में मुख्य रूप से दो दिन शहीद दिवस मनाया जाता है। पहला शहीद दिवस (सर्वोदय दिवस) 30 जनवरी को मनाया जाता है, जबकि दूसरा शहीद दिवस 23 मार्च को मनाया जाता है। 30 जनवरी को आने वाले शहीद दिवस पर महात्मा गांधी के साथ-साथ उन लोगों को श्रद्धांजलि दी जाती है जिन्होंने देश की आजादी के लिए लड़ते-लड़ते अपने प्राणों को त्याग दिया।


30 जनवरी वाले शहीद दिवस की वजह

30 जनवरी 1948 को बिरला हाउस में शाम की प्रार्थना के समय नाथूराम गोडसे ने 78 वर्षीय महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही भारत सरकार ने 30 जनवरी को शहीद दिवस के रूप में घोषित कर दिया गया। इस दिन महात्मा गांधी के अलावा देश की आजादी के लिए शहीद होने वाले अन्य स्वतंत्रता सेनानियों और उन लोगों को श्रद्धांजलि दी जाती है जिन्होंने भारत की आजादी, कल्याण और प्रगति के लिए लड़े और अपने प्राणों की बलि दे दी।

कैसे मनाया जाता है शहीद दिवस

शहीद दिवस पर राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और तीनों सेना के प्रमुख राजघाट स्थित महात्मा गांधी की समाधि पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हैं। साथ ही वे महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देते हुए उनके सम्मान में अपने हथियार को नीचे झुकाते हैं। इस दिन पूरा देश महात्मा गांधी समेत अन्य स्वतंत्रता सेनानियों की याद में मौन रखता है।

ये भी पढ़े…

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की महात्मा गांधी को भारत रत्न देने की याचिका, कहा- वो इससे कहीं ऊपर हैं

महात्मा गांधी और शास्त्री जी की जयंती पर देश का नमन, पीएम मोदी सहित इन दिग्गज नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

गांधी जयंती : सरल स्वभाव और अहिंसा के रास्ते चलने वाले महात्मा गांधी, जानें राष्ट्रपिता से जुड़ी कुछ खास बातें

Related posts