आज है मासिक दुर्गा अष्टमी, जानिए इसका महत्व और पूजा-विधि

masik durga ashtami,masik durga ashtami ka mahatav,masik durga ashtami ki puja vidhi,kab hai masik durga ashtami,kaise karein masik durga ashtami ki puja

चैतन्य भारत न्यूज

सावन महीने में कई प्रमुख तीज त्योहार आते हैं, इन्हीं में से एक है मासिक दुर्गा अष्टमी। हिन्दू धर्म में मासिक दुर्गा अष्टमी को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। सावन महीने की शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मासिक दुर्गा अष्टमी मनाई जाती है। यह इस साल 8 अगस्त को पड़ रही है। आइए जानते हैं मासिक दुर्गा अष्टमी का महत्व और पूजा-विधि।

masik durga ashtami,masik durga ashtami ka mahatav,masik durga ashtami ki puja vidhi,kab hai masik durga ashtami,kaise karein masik durga ashtami ki puja

मासिक दुर्गा अष्टमी का महत्व

ये दिन मां भगवती को समर्पित होता है और कुछ लोग इस दिन व्रत भी रखते हैं। मान्यता है कि, इस दिन जो भी भक्त पूरी श्रद्धा भावना से मां भगवती का व्रत करते हैं उनके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। दुर्गाष्टमी के दिन मां दुर्गा के काली, भवानी, जगदंबा, नवदुर्गा आदि स्वरूपों की पूजा की जाती है। हर महीने आने वाली मासिक दुर्गाष्टमी का एक अलग ही महत्व होता है।

masik durga ashtami,masik durga ashtami ka mahatav,masik durga ashtami ki puja vidhi,kab hai masik durga ashtami,kaise karein masik durga ashtami ki puja

मासिक दुर्गा अष्टमी की पूजा-विधि

  • सुबह स्नान करने के बाद स्वच्छ कपड़े धारण कर व्रत का संकल्प लें।
  • पूजा के दौरान हाथों में लाल पुष्प लेकर मां दुर्गा की प्रतिमा को अर्पित करना चाहिए।
  • इसके बाद कपूर, दीया, धूपबत्ती प्रज्वलित कर और आरती के साथ माता दुर्गा की पूजा करनी चाहिए।
  • मां दुर्गा को शहद, दही, घी, गंगाजल और दूध से बना पंचामृत अर्पित करना चाहिए।
  • इसके अलावा पांच फल व किशमिश, सुपारी, पान, लौंग, इलायची आदि अर्पित करने चाहिए।
  • इस दिन नौ छोटी कन्याओं को भोजन कराना सबसे महत्वपूर्ण माना गया है।

ये भी पढ़े…

जानिए क्यों सावन में की जाती है शिव की पूजा, इस महीने भूलकर भी न करें ये गलतियां

भगवान श्रीराम ने की थी रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग की स्थापना, जानिए इसका महत्व और विशेषता 

रक्षाबंधन 2019 : इस बार बेहद खास रहेगा रक्षाबंधन, जानिए शुभ मुहूर्त

 

Related posts