एक विवाह ऐसा भी: बैंड-बाजे संग धूमधाम से निकली बछड़े की बारात, हिंदू रीति-रिवाज से शादी कर मिस बछिया को बनाया लाइफ पाटर्नर

चैतन्य भारत न्यूज

आपने आज तक कई शादियां देखी होंगी, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी शादी के बारे में बताने जा रहे हैं जो न कभी आपने सुना होगा और न ही आपने कभी देखा होगा। इस अनोखी शादी को देखकर हर कोई हैरान रह गया। यह शादी किसी इंसान की नहीं बल्कि दूल्हा बछड़ा है, तो बछिया दूल्हन है।

धूमधाम से निकली बछड़े दूल्हे की बारात

ये शादी कहीं और नहीं बल्कि श्री कृष्ण की जन्मभूमि मथुरा के राया क्षेत्र के गांव थना अमरसिंह में हुई। इस शादी में लोगों ने बड़े ही धूमधाम से दूल्हे बछड़े को बग्गी पर बैठाकर बारात निकाली और बारातियों ने भी जमकर डांस भी किया। बारात में जमकर आतिशबाजी भी की गई। वहीं बारात के पहुंचने पर इस शादी को देखने वालों की भीड़ इकट्ठा हो गई। किला वेसवा (अलीगढ़) निवासी उदयभान सिंह बछड़े की बारात लेकर गांव थना अमरसिंह निवासी बच्चू सिंह फौजी के घर पहुंचे।

महिलाओं ने किया कन्यादान

बारात पहुंचने के कुछ देर बाद हिंदू रीति रिवाज से दूल्हा-दुल्हन को परिणय सूत्र में बांधा गया। खास बात यह है कि इस दौरान बछिया और बछड़े का जयमाल हुआ। इसके अलावा ग्रामीण महिलाओं ने काफी संख्या में बढ़-चढ़कर बछिया का कन्यादान किया और पुण्य कमाया।

बछिया को मिले ढ़ेरों उपहार

खास बात यह रही कि इंसानों की शादी की तरह इस शादी में भी बछिया और बछड़े को खूब उपहार भी मिले हैं। परिवार वालों ने तोहफे में बर्तन के साथ-साथ वॉशिंग मशीन भी दी। इस शादी के बारे में जानकारी देते हुए बच्चू सिंह और उनकी पत्नी उर्मिला देवी ने बताया कि इससे पहले वह तुलसी सालिग्राम का विवाह भी ऐसे ही धूमधाम से करा चुके हैं। वहीं, इस शादी लेकर उनका कहना है कि गाय में देवी-देवताओं का वास होता है। ऐसे में शादी कराकर हमने पुण्य कमाया है।

Related posts