64वें जन्मदिन पर मायावती ने काटा 64 किलो का केक, कहा- बीजेपी-कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे-बट्टे

mayawati

चैतन्य भारत न्यूज

लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती का आज 64वां जन्मदिन है। बीएसपी कार्यकर्ताओं ने मायावती का जन्मदिन बड़े ही धूमधाम से मनाया। लखनऊ में आज उनके जन्मदिन पर कार्यकर्ताओं ने 64 किलोग्राम का केक काटकर जश्न मनाया। इस रंग-बिरंगे केक की खूब चर्चा हुई।


मायावती ने अपने जन्मदिन पर हमेशा की तरह इस बार भी लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने बीजेपी और कांग्रेस दोनों को निशाने पर लिया और कहा ये दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं। मायावती ने देश के आर्थिक हालातों का जिक्र करते हुए कहा कि, ‘अर्थव्यवस्था मंदी की शिकार है, बीजेपी सरकार भी वही कर रही है जिसके लिए देश ने कांग्रेस को सत्ता से बाहर किया था। बीजेपी सरकार अब कांग्रेस के नक्शेकदम पर चलते हुए सत्ता का दुरुपयोग कर रही है। वह राजनीतिक और व्यक्तिगत फायदे के लिए सत्ता का दुरुपयोग कर रही है। सरकार की गलत नीतियों के कारण देश को कानून-व्यवस्था की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।’



मायावती ने कहा, ‘आज देश की लगभग 130 करोड़ जनता के सामने जो दिन प्रतिदिन तकलीफें और तनाव सामने खड़ी हैं, जिसके कारण देश में हर जगह गरीबी और बेरोजगारी व्याप्त है। देश की अर्थव्यवस्था मंदी की बीमार हालत में पहुंच गई है। आम जनता का जीवन मौजूदा केंद्र सरकार की ज्यादातर गलत नीतियों का नतीजा है। ये भी कटु सत्य है कि देश की जनता ने ऐसी खराब हालत पहले कांग्रेस की सरकार में देखी है।’

उत्तर प्रदेश में लागू हुए पुलिस कमिश्नर प्रणाली को लेकर मायावती ने कहा कि, ‘हम इसके खिलाफ नहीं हैं। एक नहीं हजार सुधार कर लें लेकिन जब तक ईमानदार प्रयास नहीं होंगे तब तक कुछ नहीं होगा। उत्तर प्रदेश में जंगलराज है। महिलाओं से जुड़े सभी अपराध दर्ज होने लगें, तो उत्तर प्रदेश की असल स्थिति सामने आ जाएगी। मैंने अपनी सरकार में अपने एमपी और एमएलए तक को नहीं बख्शा।’


इस दौरान मायावती ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि, ‘पाकिस्तान में मुस्लिम भी ज्यादती और उत्पीड़न का शिकार हो सकते हैं। उनके ऊपर भी नागरिकता कानून लागू होना चाहिए। केंद्र सरकार को इसे वापस लेना चाहिए। एक मजहब के लोगों को छोड़ना ठीक नहीं। बहुत जल्दबाजी में बिल पास हुआ है, इसे दोबारा संसद में लाना चाहिए। बाबा साहब ने सभी धर्मों का सम्मान किया है।’

उन्होंने कहा कि, ‘एनआरसी और एनपीआर लोगों के जी का जंजाल बन गया है, बीजेपी को जनहित के मुद्दों पर काम करना चाहिए।’ मायावती ने अंत में कहा कि, ‘भाजपा सरकार अगर कांग्रेस के रास्ते पर चलती रही तो धीरे-धीरे अन्य राज्यों की सत्ता भी उसके हाथ से चली जाएगी।’

ये भी पढ़े…

मायावती का दावा- मोदी अनफिट हैं, प्रधानमंत्री बनने के लिए तो मैं हूं सबसे बेहतर दावेदार

फिरोज खान के समर्थन में आईं मायावती और प्रियंका, कहा- प्रशासन का ढुलमुल रवैया इस मामले को दे रहा तूल

आयकर विभाग ने जब्त की भाई की संपत्ति तो भड़कीं मायावती, कहा- बीजेपी को अपने गिरेबान में भी झांकना चाहिए

मायावती ने तोड़ा सपा के साथ गठबंधन, कहा- सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले लड़ेंगी

 

Related posts