यूपी में 7 सीटें छोड़ने का भ्रम न फैलाए कांग्रेस, सभी 80 सीटों पर लड़े चुनावः मायावती

चैतन्य भारत न्यूज।

नई दिल्ली। कांग्रेस के सपा-बसपा गठबंधन के लिए यूपी में 7 सीटें छोड़ने के ऐलान पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने पलटवार किया है। उन्होंने साफ कहा कि कांग्रेस 7 सीटें छोड़ने का भ्रम न फैलाए और वह राज्य की सभी 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने को स्वतंत्र है। मायावती के इस कदम का समाजवादी पार्टी के चीफ अखिलेश यादव ने भी समर्थन किया है।

80 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करे कांग्रेस

मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा ‘’कांग्रेस यूपी में भी पूरी तरह से स्वतंत्र है कि वह यहां की सभी 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करके अकेले चुनाव लड़े, हमारा यहां बना गठबंधन अकेले बीजेपी को पराजित करने में पूरी तरह से सक्षम है। कांग्रेस जबर्दस्ती यूपी में गठबंधन के लिए 7 सीटें छोड़ने की भ्रान्ति ना फैलाए’’।

उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा ‘’बीएसपी एक बार फिर साफ तौर पर स्पष्ट कर देना चाहती है, कि उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में कांग्रेस पार्टी से हमारा कोई भी किसी भी प्रकार का तालमेल व गठबंधन आदि बिल्कुल भी नहीं है। हमारे लोग कांग्रेस पार्टी द्वारा आए दिन फैलाए जा रहे किस्म-किस्म के भ्रम में कतई ना आएं’’।

अखिलेश यादव ने भी किया समर्थन

अखिलेश ने मायावती के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा कि यूपी में एसपी-बीएसपी-आरएलडी का गठबंधन बीजेपी को हराने में सक्षम है। कांग्रेस किसी तरह का कन्फ्यूजन ना पैदा करे।

 7 सीटों पर उम्मीदवार नहीं उतारने का किया था ऐलान

बता दें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर महागठबंधन के प्रति कांग्रेस पार्टी के सम्मान की बात कहकर रविवार को 7 सीटों पर उम्मीदवार नहीं ऐलान किया था। उन्होंने कहा था  ‘हम एसपी-बीएसपी और आरएलडी के लिए सीटें खाली छोड़ रहे हैं। ये सीटें हैं मैनपुरी, कन्नौज, फिरोजाबाद, और वे सीटें जहां से मायावती, आरएलडी के नेता जयंत और अजित सिंह चुनाव लड़ेंगे, हम वहां से अपने उम्मीदवार नहीं उतारेंगे।

ये भी पढ़ें…

यूपी की 7 सीटों पर कांग्रेस नहीं उतारेगी अपने उम्मीदवार, ये है वजह…

Related posts