अब उज्जैन में कोरोना की जांच करने गए स्वास्थ्यकर्मियों से बदसलूकी, पहले दी गालियां फिर पत्थर मारने की धमकी

चैतन्य भारत न्यूज

उज्जैन. कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में जुटे डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ एक बार फिर बदसलूकी का मामला सामने आया है। इस बार मध्यप्रदेश के ही उज्जैन शहर में डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार किया गया। यहां लोगों ने डॉक्टरों के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया और साथ ही उनपर पत्थर फेंकने की धमकी भी दी।


यह मामला उज्जैन में बिलोटीपुरा इलाके से सामने आया है। यहां मेडिकल सर्वे के लिए पहुंची डॉक्टरों की टीम के साथ स्थानीय निवासियों ने मौखिक रूप से दुर्व्यवहार किया और धमकी भी दी। मेडिकल टीम लोगों को लगातार समझाने की कोशिश करती रही लेकिन उनलोगों पर कोई असर नहीं हुआ। निवासियों ने डॉक्टरों के साथ अपनी कोई भी जानकारी साझा करने से इनकार कर दिया। इसके बाद लोगों ने उन्हें गालियां दी और पत्थर फेंकने की भी धमकी दी।


जानकारी के मुताबिक, स्वास्थ्यकर्मियों की टीम में डॉक्टर, नर्सिंग स्टॉफ और बाकी कर्मी थे। इस दौरान उनके साथ पुलिस भी थी। मामला बढ़ता देख उन्होंने क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से संपर्क किया, जिसके बाद स्थिति में सुधार हुआ।

गौरतलब है कि उज्जैन से पहले 1 अप्रैल को इंदौर के टाट पट्टी बाखल इलाके में भी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने डॉक्टरों की टीम पर पथराव हुआ था। यहां डॉक्टरों की टीम कोरोना वायरस से संदिग्ध एक बुजुर्ग महिला का मेडिकल चेकअप करने के लिए गई थी, जिसका वहां के लोगों ने विरोध किया और उन्होंने डॉक्टरों पर पथराव कर दिया। हालांकि उसी इलाके से 10 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। इस घटना की पूरे देश में निंदा हुई थी।

ये भी पढ़े…

बरेली : पुलिस पर हमला करने वाले 43 लोग गिरफ्तार, 150 से ज्यादा लोगों के खिलाफ FIR

इंदौर: डॉक्टरों पर पत्थरबाजी करने पर मुस्लिम समुदाय शर्मिंदा, विज्ञापन छपवाकर मांगी माफी

इंदौर: जिस इलाकें में लोगों ने डॉक्टरों पर की थी पत्थरबाजी, वहां से 10 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले

Related posts