आज मीन संक्रांति, जानिए दान का महत्व और पूजा-विधि

meen sankranti 2020, meen sankranti 2020 ka mahatava

चैतन्य भारत न्यूज

14 मार्च को सूर्य मीन राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं इसलिए इस दिन मीन संक्रांति पर्व मनाया जाएगा। सभी संक्रांतियों की तरह मीन संक्रांति का दिन भी काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। सूर्य का राशि परिवर्तन संक्रांति कहलाता है। यह एक माह का चक्र होता है। इस दिन दान पुण्य के कार्य किए जाते हैं। आइए जानते हैं मीन संक्रांति का महत्व और पूजा-विधि।



meen sankranti 2020, meen sankranti 2020 ka mahatava

मीन संक्रांति का महत्व

मकर संक्रांति की ही तरह मीन संक्रांति पर भी स्नान-ध्यान, दान-पुण्य का विशेष महत्‍व है। मान्यता है कि इस दिन गंगा नदी में स्नान करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन सुख-समृद्धि पाने के लिए मां गंगा का ध्यान करें। अगर आप मीन संक्रांति के अवसर पर गंगा नदी में स्नान नहीं कर सकते हैं तो यमुना, गोदावरी या अन्य किसी भी पवित्र नदी में स्नान कर पुण्य की प्राप्ति कर सकते हैं।

meen sankranti 2020, meen sankranti 2020 ka mahatava

मीन संक्रांति की पूजा-विधि

  • इस दिन सूर्योदय से पहले उठ स्नान कर सूर्यदेव की पूजा करनी चाहिए।
  • पानी में लाल चंदन मिलाकर तांबे के लोटे से सूर्य को जल चढ़ाएं। साथ ही रोली, हल्दी व सिंदूर मिश्रित जल से सूर्यदेव को अर्घ्य दें।
  • इसके बाद सूर्य देव को लाल फूल चढ़ाएं।
  • सूर्यदेव को गुड़ से बने हलवे का भोग लगाएं।
  • इसके बाद लाल चंदन की माला से ‘ॐ भास्कराय नमः’ मंत्र का जाप करें।
  • पूजन के बाद नैवेद्य लगाएं और उसे प्रसाद के रूप में बांट दें।

ये भी पढ़े…

मनचाही सफलता के लिए रविवार को इस विधि से करें सूर्य देवता की पूजा

सृष्टि में विद्रोही देवता के रूप में जाने जाते हैं शनिदेव

शनि के प्रकोप से बचने के लिए इस विधि से करें पूजा, जानिए शनिवार व्रत का महत्व

Related posts