प्रिंस हैरी-मेगन मार्कल ने बताई शाही परिवार की सच्चाई, कहा- रंग के डर से बेटे को प्रिंस नहीं बनाना चाहता था परिवार, मन में आते थे आत्महत्या के ख्याल

चैतन्य भारत न्यूज

ब्रिटेन के प्रिंस हैरी और उनकी पत्नी मेगन मर्केल एक इंटरव्यू ने सोशल मीडिया पर बवाल खड़ा कर दिया है। मेगन मर्केल ने जानी-मानी अमेरिकी टीवी होस्ट ओप्रा विनफ्री को दिए इंटरव्यू में कई अहम बातें कही हैं। उन्होंने इस दौरान शाही परिवार पर नस्लभेद करने के आरोप लगाए हैं। इसके बाद उनका इंटरव्यू तेजी से वायरल हो रहा है। इस इंटरव्यू के जरिए राजघराने की शोहरत और रुतबे के पीछे की असलियत दुनिया के सामने आ गई है।

इंटरव्यू में मेगन ने कहा कि शाही परिवार के साथ वक्त बिताते वक्त वे बिल्कुल असहज महसूस करती थीं। वे जीना नहीं चाहती थीं। यहां तक कि उन्हें आत्महत्या करने जैसे ख्याल आते थे। उन्होंने बताया कि प्रिंस हैरी के साथ शादी से पहले केट मेडलट्न ने उन्हें रुला दिया था। बता दें कि केट मेडलट्न प्रिंस विलियम्स की पत्नी हैं। मेगन के मुताबिक, हैरी और उनकी शादी से पहले केट किसी चीज़ को लेकर खफा थीं जो शादी में इस्तेमाल होने वाली थी। उस वक्त वो सिचुएशन काफी बुरी हो गई थी। इस दौरान प्रिंस हैरी ने भी कहा कि, उन्हें अपने आप और अपनी पत्नी पर गर्व है, क्योंकि जब वह प्रेगनेंट थी उस वक्त वो काफी बुरे दौर से गुजरीं।


मेगन ने कहा कि उनकी सबसे बड़ी गलती यही थी कि उन्होंने शाही परिवार पर विश्वास किया। शाही परिवार ने वादा किया था कि उन्हें हमेशा सुरक्षित रखा जाएगा, लेकिन ऐसा कभी नहीं हो सका। इतना ही नहीं, हैरी ने कहा कि अगर प्रिंसेस डायना आज होतीं, तो शाही परिवार में जो हुआ उससे काफी खफा होतीं।

इंटरव्यू में मेगन भावुक होकर ये कहती नजर आईं कि, राज परिवार को उनके बेटे के रंग से परेशानी थी। जब उनका बेटा पैदा होने वाला था तो उसके रंग को लेकर सभी लोगों ने चिंता व्यक्त की थी। इस बारे में कई बार चर्चा भी होती थी। राज परिवार के लोगों ने बेटे के रंग को लेकर प्रिंस हैरी से भी बात की थी। हालांकि, मेगन ने परिवार के उन सदस्यों के नाम लेने से मना कर दिया, जो कि उनके बच्चे के रंग को लेकर कमेंट किया करते थे।

मेगन ने बताया कि, शाही परिवार से अलग होने के बाद उन्होंने अपनी सिक्योरिटी को भी छोड़ दिया था, लेकिन अपने बेटे आर्ची की सिक्योरिटी को लेकर वो काफी परेशान थीं। ब्रिटिश राजघराने की तरफ से कहा गया था कि मेगन ने उनके बेटे को प्रिंस की उपाधि देने से मना किया था, लेकिन इस बात से मेगन ने इनकार किया। उन्होंने कहा कि प्रिंस का शीर्षक मिले या न मिले उनके लिए अर्ची की सुरक्षा ज्यादा जरूरी थी।

बता दें मेगन की मां अमेरिकन अफ्रीकन हैं और उनके पिता अमेरिकन थे, इसलिए राज परिवार के कुछ सदस्यों को मेगन और हैरी के बेटे के अश्वेत रंग को लेकर चिंता थी। जब से उन्होंने ब्रिटेन के प्रिंस हैरी से शादी की, तभी से वह लगातार ब्रिटिश मीडिया के चर्चाओं का हिस्सा बनने लगी थीं। सोशल मीडिया पर लोग उन्हें गोल्ड डिगर कहने लगे थे। साथ ही काफी तरह की आपत्तिजनक बातें उनके बारे में लिखी जाती थीं। इस वजह से वो काफी ज्यादा निराश थीं।

 प्रिंस हैरी-मेगन मर्केल का शाही परिवार के साथ हुआ समझौता, दोनों छोड़ेंगे अपनी वरिष्ठ सदस्यता

प्रिंस हैरी की शाही विरासत छोड़ने के पीछे मेगन का सांवला रंग है कारण? भाई से मनमुटाव पर प्रिंस विलियम ने तोड़ी चुप्पी

प्रिंस हैरी-मेगन मर्केल शाही परिवार छोड़कर जीना चाहते हैं आम जिंदगी, बहुत खास है इस फैसले की वजह!

Related posts