13 लाख भारतीयों के डेबिट-क्रेडिट कार्ड का डेटा चोरी, ऑनलाइन बेच रहे हैकर्स

data leak

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. साल की सबसे बड़ी सायबर चोरी का हाल ही में खुलासा हुआ है। जानकारी के मुताबिक, देश में करीब 13 लाख डेबिट और क्रेडिट कार्ड का डेटा लीक हो गया है। भारतीय बैंकों के 13 लाख डेबिट और क्रेडिट कार्ड का यह डाटा डार्क वेब पर बेचा जा रहा है।

साइबर एक्सपर्ट पवन दुग्गल का कहना है कि, यह इस साल की सबसे बड़ी हैकिंग है। सिंगापुर स्थित एक ग्रुप आईबी सुरक्षा अनुसंधान की टीम ने डार्क वेब पर क्रेडिट और डेबिट कार्ड के विवरण के एक बड़े डेटाबेस का पता लगाया है। शुरुआती जांच में यह भी सामने आया है कि इसमें सर्वाधिक महत्वपूर्ण ट्रैक-2 डेटा भी चोरी हुआ है, जो कि कार्ड के पीछे मैग्नेटिक स्ट्रिप में होता है। इसमें ग्राहक की प्रोफाइल और लेनदेन की सारी जानकारी होती है। बता दें ट्रैक-1 डेटा में सिर्फ कार्ड नंबर ही होते हैं, जो सामान्य है।

जानकारी के मुताबिक, इसमें से 98% भारतीय बैंकों के कार्डस् हैं और बल्कि कोलंबियाई वित्तीय संस्थानों के हैं। Group-IB साइबर सिक्योरिटी फर्म के अनुसार, 13 लाख कार्ड की डीटेल्स एक वेबसाइट पर मौजूद हैं। इन कार्ड्स की डीटेल को 100 डॉलर (लगभग 7,092 रुपए) में बेचा जा रहा है। इस डाटा की कुल कीमत 130 मिलियन डॉलर (लगभग 921।99 करोड़ रुपए) से अधिक है, जिससे यह अबतक की डार्क वेब पर बिक्री के लिए रखा जाने वाला सबसे कीमती वित्तीय जानकारी बन गई है।

नुकसान की भरपाई बैंकों की ही जिम्मेदारी: पवन दुग्गल, सायबर विशेषज्ञ

  • आरबीआई के नियमों के मुताबिक, यदि कार्ड दुरुपयोग में उपभोक्ता की गलती नहीं है, तो भरपाई बैंक को करनी होगी। कार्ड से हुए किसी बड़े लेनदेन की बैंक को तफ्तीश करना चाहिए और ग्राहक से बात करने के बाद ही उसे क्लियर करना चाहिए।
  • कोई भी ऐसी वेबसाइट पर जाने से बचे जो सुरक्षित न हो। जिस कार्ड से आप ज्यादातर लेनदेन करते हैं, उसमें सीमित पैसा रखें। संदिग्ध निकासी दिखे तो तुरंत पुलिस व बैंक को लिखित सूचना दें। इससे नुकसान की जिम्मेदारी बैंक की ही होगी।
  • बता दें जोकर्स स्टैश के पीछे फिन-7 संगठन है, जो अबतक डेटा बेचकर 7 हजार करोड़ रुपए कमा चुका है। जोकर्स स्टैश एक ऐसा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जहां अपराधी पेमेंट कार्ड डिटेल्स की खरीद-फरोख्त करते हैं। इसके जरिए कार्ड की क्लोनिंग करके उससे पैसे चुराए जाते हैं। अब तक जोकर्स स्टैश दुनियाभर के 1 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों के कार्ड हैक कर चुके हैं।

यह भी पढ़े…

यदि आप भी हुए हैं ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार, तो ऐसे कीजिए शिकायत

बैंक दे रहा एटीएम फ्रॉड से बचने जानकारी , रखें ये सावधानियां, जानें क्या करें अगर आपके साथ हुई है धोखाधड़ी

Related posts