मोदी सरकार की मंत्री मीनाक्षी लेखी ने किसानों को कहा ‘मवाली’, भड़के टिकैत ने दिया जवाब

चैतन्य भारत न्यूज

केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने गुरुवार को किसानों पर अभद्र टिप्पणी की। मीनाक्षी ने दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों को मवाली कह डाला है। उन्होंने कहा है कि, जो प्रदर्शन कर रहे हैं वे किसान नहीं है। टिकैत ने मावली कहे जाने पर मीनाक्षी लेखी को कड़ा जवाब दिया है।

नई दिल्ली सीट से सांसद मीनाक्षी लेखी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में 26 जनवरी को लाल किले पर हुई हिंसा का जिक्र करते हुए कहा है कि, प्रदर्शन कर रहे लोग किसान नहीं, मवाली हैं। उन पर ध्यान देना चाहिए, वे आपराधिक गतिविधियां कर रहे हैं। जो कुछ 26 जनवरी को हुआ वह भी शर्मनाक था। उसमें विपक्ष की ओर से ऐसी चीजों को बढ़ावा दिया गया।

मीनाक्षी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि, पहली बात तो आप उन्हें किसान कहना बंद कीजिए। वे किसान नहीं हैं। किसानों के पास इतना समय नहीं है कि जंतर-मंतर पर धरना देने बैठें। प्रदर्शनकारियों का यह राजनीतिक एजेंडा है। इसके जवाब में राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों के बारे में ऐसी बात नहीं कहनी चाहिए। किसान देश का अन्नदाता है।

किसानों को शर्तों के साथ प्रदर्शन की इजाजत

मीनाक्षी लेखी के इस विवादित बयान को लेकर सोशल मीडिया पर हंगामा मचने लगा है और कई यूजर्स लेखी के इस्तीफे की मांग करने लगे हैं। बता दें 26 जनवरी को दिल्ली में उग्र प्रदर्शन के बावजूद दिल्ली सरकार ने किसानों को एंट्री की इजाजत दी है। यह परमिशन 22 जुलाई से लेकर 9 अगस्त तक है। दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने शर्तों के साथ प्रदर्शन की मंजूरी दी है।

Related posts