सऊदी प्रिंस ने हैक किया अमेजन के मालिक बेजोस का फोन! सऊदी शासन बोला- ये खबरें बकवास है

saudi prince jeff bezos

चैतन्य भारत न्यूज

न्यूयॉर्क. आए दिन कोई ना कोई शख्स हैकर्स के निशाने पर आता ही रहता है। अब दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के मालिक जेफ बेजोस (Jeff Bezos) भी इससे नहीं बच पाए हैं। खबर है कि सउदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने एक वॉट्सऐप मैसेज कर जेफ का मोबाइल फोन हैक कर लिया है।


डेटा खुफिया तरीके से चोरी है डाटा

अंग्रेजी आखर The Guardian की रिपोर्ट के मुताबिक, 1 मई 2018 के सउदी के प्रिंस ने बेजोस को वॉट्सऐप के जरिए एक एनक्रिप्टेड वीडियो फाइल भेजा था। बेजोस का फोन इस वीडियो फाइल को डाउनलोड करने के साथ ही हैक हो गया था। फोन हैक करने के लिए वीडियो में एक मलीशस फाइल (वायरस) थी जिसे बेजोस के फोन में घुसपैठ लिए खासतौर से डिजाइन किया गया था। फोन हैक होते ही कुछ ही घंटों के अंदर बेजोस के मोबाइल से काफी अहम डेटा खुफिया तरीके से निकाल लिया गया।

हैकिंग के पीछे पेगासस स्पाइवेयर

इस हैकिंग के कारण बेजोस के फोन से कई जीबी डेटा की चोरी हुआ है। यह सिलसिला कई महीनों तक जारी रहा। यूनाइटेड नेशन्स ने बुधवार को जारी की गई अपनी एक रिपोर्ट में इस हैकिंग के पीछे पेगासस (Pegasus) स्पाइवेयर का हाथ होने की आशंका जताई है।

यह खबरें बकवास हैं : सऊदी शासन

हालांकि सऊदी अरब ने उन सभी रिपोर्ट्स को नकार दिया है, जिनमें कहा गया है कि प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने जेफ बेजोस का फोन हैक कर लिया था। सऊदी शासन ने कहा है कि, ‘यह खबरें बकवास हैं। हम इन दावों के खिलाफ जांच की मांग करते हैं, ताकि सभी तर्कों को ठीक ढंग से पेश किया जा सके।’

अमेजन ने मामले पर बोलने से इनकार किया

अमेजन और सऊदी अरब के रिश्तों में साल 2018 में खटास आनी शुरू हुई थी। बता दें बेजोस अमेरिकी अखबार ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ के मालिक हैं। प्रिंस सलमान पर आरोप है कि, उनके कहने पर ही सऊदी शासन ने वॉशिंगटन पोस्ट के एक पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही दोनों के बीच रिश्ते ख़राब हुए थे। खशोगी की हत्या के बाद अमेजन प्रमुख के सिक्योरिटी चीफ ने कहा था कि, ‘सऊदी के पास बेजोस के फोन का एक्सेस था और हैकिंग के जरिए उसने बेजोस की कई निजी जानकारियां चुराई है। हालांकि, इस मामले में अमेजन का अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है।

भारतीय भी हो चुके हैं पेगासस का शिकार

बता दें पेगासस एक खतरनाक स्पाइवेयर है जिसे इजरायली फर्म NSO ग्रुप ने तैयार किया है। पेगासस एक ऐसा खतरनाक स्पाइवेयर है जिससे किसी भी यूजर के फोन में मौजूद डेटा को पूरी तरह ऐक्सेस किया जा सकता है। पेगासस स्पाइवेयर के जरिए हैकर किसी भी फोन की हर ऐक्टिविटी को देख सकते हैं। पिछले साल 20 अप्रैल से 10 मई के बीच पेगासस के जरिए 20 देशों में 1400 लोगों की जासूसी की गई। इन लोगों में 20 भारतीय भी शामिल थे।

ये भी पढ़े….

पीयूष गोयल ने अमेजन निवेश कर कोई एहसान नहीं कर रहा वाले बयान पर दी सफाई, कहा- निवेश का स्वागत है लेकिन

अमेजन के CEO को पीछे छोड़ बिल गेट्स फिर बने दुनिया के सबसे अमीर शख्स, देखें सबसे पांच अमीर लोगों की लिस्ट

जेफ बेजोस नहीं रहे दुनिया जे सबसे अमीर व्यक्ति, इस धनवान ने छीना उनका ताज

Related posts