8 दिन देरी के बाद आखिरकार केरल पहुंचा मानसून, 12 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

monsoon,kerala,monsoon arrives

चैतन्य भारत न्यूज

पिछले कई महीनों से तपती गर्मी का सामना कर रहे लोगों को अब जल्द ही राहत मिलने वाली है। आखिरकार मानसून ने केरल में दस्तक दे दी है। आमतौर पर हर साल 1 जून को मानसून केरल से टकराता है लेकिन इस बार यह आठ दिन की देरी से शनिवार को पहुंचा। जानकारी के मुताबिक, तटीय इलाकों में झमाझम बारिश शुरू हो गई है।

दिलचस्प बात तो यह है कि जिस समय मानसून केरल पहुंचा तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दोनों ही केरल दौरे पर थे। भू-विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन राजीवन ने भी ट्वीट कर केरल में मानसून के दस्तक देने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि, अगले दो से तीन दिन तक केरल में औसत से लेकर भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक, दक्षिण में लक्षद्वीप के ऊपर चक्रवाती क्षेत्र बना हुआ है। दक्षिण-पूर्व अरब सागर में लो प्रेशर क्षेत्र भी बन रहा है।

अगले 24 घंटे में मानसून पूर्वोत्तर के त्रिपुरा पहुंच सकता है। मौसम विभाग ने केरल के आठ जिलों 9 जून के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। ये आठ जिले हैं तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, अलपुझा, कोट्टयम, एर्नाकुलम, त्रिशूर, मल्लाप्पुरम और कोझिकोड। 10 जून को त्रिशूर में रेड अलर्ट रहेगा। 11 जून को एर्नाकुलम, मलाप्पुरम और कोझिकोड जिले में रेड अलर्ट रहेगा। इन इलाकों में भारी से भारी बारिश होने की आशंका है। बताया जा रहा है कि मानसून के पहले दिन अच्छी-खासी बारिश हुई है। मानसून आने की सबसे ज्यादा खुशी खासकर किसानों को हुई है। दरअसल भारत की 90 फीसदी खेती मानसून पर ही निर्भर रहती है।

असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भी भारी बारिश के आसार हैं। हालांकि, राजस्थान, मध्य प्रदेश और विदर्भ में अगले चार-पांच दिनों तक लू की स्थिति बनी रह सकती है। आमतौर पर दिल्ली और इसके आसपास के प्रदेशों में मानसून जून तक पहुंच जाता है। लेकिन इस बार मानसून के दिल्ली तक पहुंचने में 10-15 दिन की देरी हो सकती है।

Related posts