मुरादाबाद: अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस में हंगामा, सुरक्षा कर्मियों ने पत्रकारों को पीटा, हमलावर हुई बीजेपी

चैतन्य भारत न्यूज

मुरादाबाद. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुरुवार को जमकर बवाल हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के सुरक्षाकर्मियों ने एक इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि के साथ धक्का-मुक्की कर दी। इस दौरान उनके बीच तू-तू मैं-मैं और गाली-गलौज तक हो गई। हंगामा बढ़ने के बाद अखिलेश ने कार्यकर्ताओं से शांत होने की अपील की।


पत्रकारों के सवाल पर भड़के अखिलेश

घटना में कई पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। आरोप है कि हमला खुद अखिलेश यादव के कहने पर किया गया। जिले के एक होटल में पार्टी का ट्रेनिंग कैंप चल रहा है। प्रेसवार्ता का समय साढ़े पांच बजे रखा गया था, जबकि तय समय से करीब दो घंटे देरी से प्रेस को संबोधित करने अखिलेश यादव पहुंचे। रात करीब आठ बजे प्रेसवार्ता समाप्त होने के बाद जब अखिलेश यादव जाने लगे, उसी दौरान एक चैनल के प्रतिनिधि ने उन्हें रोककर बात करने का प्रयास किया। इस दौरान ही जब मीडिया के लोगों ने अखिलेश यादव से सवाल-जवाब करना शुरू किया तो वे भड़क गए। कहा, ‘आप लोग बिके हुए पत्रकार हो, सिर्फ मुझसे ही क्यों पूछते हो, भाजपा से क्यों नहीं पूछते।’

10 मिनट तक हुई धक्का-मुक्की

जानकारी के मुताबिक, फिर अखिलेश ने खुद कैमरे के सामने अपनी सुरक्षाकर्मियों से कहा कि, ‘इन्हें मारो।’ इसके बाद सुरक्षा कर्मियों ने चैनल के प्रतिनिधि को धक्का दे दिया। इसी बात को लेकर पत्रकार और सुरक्षा कर्मियों के बीच बहस हो गई। करीब दस मिनट तक धक्का-मुक्की हुई। इसके बाद सुरक्षा में तैनात कमांड़ों ने विरोध कर रहे इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि को पीटना शुरू कर दिया।

हमलावर हुई बीजेपी

वहीं, इस घटना पर बीजेपी नेता शलभ मणि त्रिपाठी ने सपा पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सपा ने फिर से अपना चरित्र दिखाया है। आज पूर्व मुख्यमंत्री के सामने लाल टोपी वाले गुंडों ने पत्रकारों को मारा-पीटा। हल्ला बोल वाला चरित्र दिखाया है। ये न पत्रकारों को और न आम जनता को बख्शने वाले हैं। ये बात सोचने वाली है कि जब ये सत्ता में रहे होंगे तब इनका सत्ता का नशा कैसा रहा होगा।

Related posts