इंडोनेशिया में मतपत्र गिन रहे 270 से अधिक कर्मचारियों की ओवरटाइम की वजह से मौत

चैतन्य भारत न्यूज।

इंडोनेशिया में 17 अप्रैल को हुए चुनाव के मतपत्रों की गिनती कर रहे 270 कर्मचारियों की मौत ओवरटाइम करने की वजह से हो गई। अधिकारियों के मुताबिक चुनाव ड्यूटी में लगे इन कर्मचारियों को थकान से संबंधित बीमारियां हुईं और उनकी मौत हो गई। संसदीय और राष्ट्रपति दोनों चुनाव के लिए मतपत्रों से मतदान हुआ था। तब से कर्मचारी हाथों से ही इनकी गिनती कर रहे हैं। यह काम 22 मई तक पूरा हो जाने की संभावना है। इंडोनेशिया में करीब 19.3 करोड़ वोटर हैं। इनमें से 80 फीसदी ने मतदान किया था।

इंडोनेशिया के जनरल इलेक्शन कमीशन के प्रवक्ता एरीफ प्रियो सुसांतो ने कहा कि अन्य 1878 कर्मचारी बीमार हो गए हैं। करीब 70 लाख लोग मतपत्रों की गिनती और निगरानी में सहयोग कर रहे हैं। कर्मचारियों को गर्मी और खराब परिस्थितियों में रातभर काम करना पड़ रहा था, जिसकी वजह से उन्हें शारीरिक दिक्कतें होने लगी थीं। इंडोनेशिया के चुनाव आयोग ने मृतकों के परिवारवालों को मुआवजा देने की घोषणा की है।

इंडोनेशिया की आबादी करीब 26 करोड़ है। चुनावों पर होने वाले खर्च को कम करने के लिए कई चुनाव साथ कराए गए हैं। करीब आठ लाख मतदान केंद्रों पर वोटिंग हुई थी। चुनाव के काम में लगे ज्यादातर कर्मचारी अस्थायी हैं और काम पर रखते वक्त इनका स्वास्थ्य परीक्षण नहीं किया गया था।

आलोचकों का कहना है कि सरकार एक साथ चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार नहीं थी और बड़े पैमाने पर अस्थायी नियुक्ति का उसका फैसला गलत साबित हुआ। राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रबोवो सुबिआंतो के समर्थक अहमद मुजानी ने कहा कि आयोग ठीक से चुनाव नहीं करवा सका।

Related posts