रोजाना 15 मिनट पैदल चलने से पूरे विश्व को होगा आर्थिक फायदा, जानें कैसे

morning walk

चैतन्य भारत न्यूज

सेहतमंद रहकर हम सिर्फ देश ही नहीं बल्कि दुनिया की अर्थव्यवस्था को भी मजबूत कर सकते हैं। इस बात का दावा विश्व स्वास्थ्य संगठन ने किया है। डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के मुताबिक, यदि नियोक्ता कर्मचारियों को प्रोत्साहित करेंगे तो विश्व अर्थव्यवस्था में 100 बिलियन डॉलर सालाना का सुधार ही सकता है।


15 मिनट पैदल चलने से जीवन प्रत्याशा बढ़ेगी

रिपोर्ट के मुताबिक, रोजाना महज 15 मिनट या एक किमी पैदल चलने से जीवन प्रत्याशा (LIFE EXPECTANCY) के साथ ही उत्पादकता भी बढ़ेगी और इससे आर्थिक विकास होगा। दरअसल ऐसा करने से लोग कम बीमार होंगे और मृत्यु दर भी घटेगी। इससे कर्मचारी अर्थव्यवस्था में लंबे समय तक योगदान दे सकेंगे। यह बात स्वास्थ्य बीमा समूह विटैलिटी व थिंक टैंक ‘रैंड यूरोप’ के अध्ययन में सामने आई है।

150 मिनट की एक्सरसाइज जरुरी

डब्ल्यूएचओ ने सलाह दी है कि सभी वयस्कों को सप्ताह में कम से कम 150 मिनट का मध्यम व्यायाम और 75 मिनट फुर्तीला व्यायाम करना चाहिए। पिछले साल एक अध्ययन में यह पाया गया था कि, अमेरिका में लगभग 40 फीसदी वयस्क, ब्रिटेन में 36 फीसदी और चीन में 14 फीसदी लोगों ने काफी कम व्यायाम किया था। अध्ययन में बताया गया था कि 40 वर्ष के व्यक्ति भी रोजाना 20 मिनट टहलकर अपनी जीवन प्रत्याशा बढ़ा सकते हैं। इस अध्ययन में रैंड यूरोप ने करीब 7 देशों के 20 हजार लोगों की राय जानी थी। इसके बाद ही शारीरिक गतिविधियों के संभावित आर्थिक लाभ का ये मॉडल तैयार किया गया।

ये भी पढ़े…

अगर आप भी सुबह एक्सरसाइज का सोच रहे हैं तो पहले जान लें ये जरुरी बातें

इन आदतों की वजह से भी होते हैं हम ठंड का शिकार

बढ़ती उम्र में ब्लड प्रेशर का हाई होना सामान्य, इन खास बातों का रखें ध्यान

 

Related posts