निर्दयी मां…. बेटी हुई तो स्तनपान करवाना बंद कर दिया, खून देने से भी किया इनकार, बोली- मर जाने दीजिए इसे

चैतन्य भारत न्यूज

एक मां कैसे इतनी निर्दयी हो सकती है… मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले से ऐसी ही निर्दयी मां का मामला सामने आया है जिसने अपनी पांच माह की बच्ची काे स्तनपान कराना बंद कर दिया। ऐसे में मासूम की तबियत बिगड़ने लगी और हीमोग्लोबिन की कमी होने से वह बीमार हो गई। जब बच्ची को खून की जरूरत पड़ी तो मां ने उसे खून देने से भी इनकार कर दिया। फिर एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उस मासूम सी बच्ची पर तरस आया और उसने रक्तदान किया।

बेटी हुई इसलिए स्तनपान करवाना छोड़ दिया

रामपति बाई नामक महिला ने करीब चार-पांच महीने तक तो बच्ची प्रिया को स्तनपान कराया, लेकिन फिर उसने स्तनपान करवाना बंद कर दिया। ऐसे में बच्ची बहुत ज्यादा कुपोषित हो गई। जब यह जानकारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता नीरू राठौर को मिली तो उसने उसे भर्ती कराने के लिए कहा, लेकिन रामपति तैयार नहीं हुई। इस पर परियोजना अधिकारी जितेंद्र तिवारी को जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि महिला ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि बेटे की आस में उसे छठवीं बार भी बेटी हो गई थी।

मां ने बच्ची को खून देने से किया मना

फिर परियोजना अधिकारी अपनी टीम के साथ गांव पहुंचे और उन्होंने बच्ची की मां को समझाकर एनआरसी में भर्ती कराया। जांच में पता चला कि उसका वजन 3.5 किलो और हीमोब्लोबिन लेवल महज 3.2 था। मां रामपति का ब्लड सैंपल लिया गया ताकि मैच कराकर बच्ची को खून चढ़ाया जा सके। ब्लड मैच भी हुआ, लेकिन रामपति ने खून देने से मना कर दिया। रामपति ने इतना तक कह दिया कि वह मर जाए पर वह खून नहीं देगी। यह सुनकर वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए। फिर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बच्ची को खून दिया। जिसके बाद उसकी हालत में सुधार आया।

Related posts