MP का पहला 2,41,375 करोड़ का ई-बजट पेश, कोई नया टैक्स नहीं लगा, जानिए बजट की खास बातें

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. सोमवार को मध्य प्रदेश का पहला ई-बजट आज पेश किया गया। वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने टैबलेट के जरिए विधानसभा में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए यह बजट पेश किया। शिवराज सिंह चौहान के चौथे कार्यकाल का यह पहला बजट है। बजट में सरकार की तरफ से इंफ्रास्ट्रक्चर, शिक्षा, रोजगार पर ध्यान देने का प्रयास किया गया।


वित्त मंत्री ने विधानसभा में बताया कि इस साल का बजट 2,41,375 करोड़ रुपए का होगा। बजट में कोई नया कर नहीं लगाया गया है, साथ ही पुराने कर में बढ़ोतरी भी नहीं हुई। प्रदेश सरकार ने आम लोगों से जुड़े कामों को सरल बनाने के लिए लोक सेवा गारंटी कानून में बड़ा बदलाव किया है। अब इसे डीम्ड अप्रूवल को शामिल किया है। यानी आय प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, नल-बिजली कनेक्शन, इलाज राशि की मंजूरी सहित 258 तरह की सरकार द्वारा आम लोगों को दी जाने वाली सेवाओं के आवेदन को अफसर लटका नहीं सकेंगे। समयावधि में या तो आवेदन मंजूर कर सेवा प्रदान करनी होगी या कारण बताकर समयावधि में ही उसे निरस्त करना होगा। यदि ऐसा अफसर नहीं करते तो पोर्टल आवेदन को स्वीकृत मान लेगा और खुद ही सेवा का ऑनलाइन सर्टिफिकेट आवेदक को जारी कर देगा।

भारत का बजट होता है 30 लाख करोड़ का, जानिए सरकार के पास कहां से आता है इतना पैसा

बजट 2021-22 की खास बातें-

  • कोई नया कर नहीं, किसी पुराने कर में बढ़ोतरी भी नहीं। बजट का आकार 2,41,375 करोड़ रुपए का, 50,938 करोड़ अनमुमानित राजकोषीय घाटा।
  • एमबीबीएस की सीटें 2022-23 तक बढ़ाकर 3250 की जाएंगी। नर्सिंग की सीटें बढ़ाकर 320 किया जाएगा। राज्य में 9 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे। इंदौर-भोपाल सहित जबलपुर में तीन कैंसर हॉस्पिटल स्थापित किए जाएंगे।
  • भूमाफियाओं के चंगुल से मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 8,800 करोड़ रुपए मूल्य की 3,300 एकड़ भूमि मुक्त कराई गई है। सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय सरकार का लक्ष्य है। 426 लोकसेवा केंद्रों का संचालन किया जा रहा है। प्रदेश के पुलिसकर्मियों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए भोपाल में पुलिस आपातकालीन चिकित्सालय का निर्माण कराया जाएगा।
  • रीजनल कनेक्टिविटी के लिए विमान सेवा की शुरुआत की जाएगी। साथ ही प्रदेश में पुलिसकर्मियों को आवास देने के लिए 24000 भवनों का निर्माण किया जाएगा।
  • इस बार न कोई नया कर लगेगा और न ही किसी की दर बढ़ाेतरी की जाएगी। भोपाल में पुलिस अस्पताल बनेगा और हर जिले में महिला थाना खोला जाएगा।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश में 18।18 लाख आवास बनाए जा चुके हैं और 6 लाख आवास निर्माणाधीन हैं। साल 2021-22 में 4000 पुलिस पदों पर भर्ती की जाएगी।
  • बजट स्पीच पीडीएफ फॉर्म में पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें-
  • भोपाल, जबलपुर, इंदौर में बनेगा कैंसर अस्पताल
  • पन्ना में डायमंड म्यूजियम प्रस्तावित, फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाई जाएगी। भोपाल, जबलपुर, इंदौर में बनेगा कैंसर अस्पताल बनेगा। राज्य का GDP 10 ट्रिलियन के पार पहुंचने का अनुमान। रीजनल कनेक्टिविटी के लिए विमान सेवा शुरू होगी। होम स्टे, ग्राम स्टे पर्यटकों को होगा उपलब्ध, वोकल फॉर लोकल की योजना के तहत स्थानीय सामानों को दिया जाएगा बढ़ावा।
  • बिगड़े वनों का सुधार किया जाएगा। इससे प्रदेश में लोगों को रोजगार मिलेगा। साथ ही प्रदेश में हरित क्षेत्र भी बढ़ेगा। इसके लिए एक समिति भी बनाई जाएगी।

 Budget 2021: बजट से जुड़े वो 10 शब्द जिन्हें जानने के बाद बजट को समझना होगा बेहद आसान

  • भोपाल और इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए साल 2021-22 के बजट में 262 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
  • गैस पीडि़तों को पेंशन देगी राज्य सरकार। पुजारियों को मानदेय दिया जाएग। पथ विक्रेताओं को सशक्त करने के लिए सरकार ने 2.69 लाख हितग्राहियों को लाभान्वित किया है।
  • गौ वंशों के संरक्षण के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। 1000 ग्राम पंचायतों में 1000 से अधिक गौशालाओं का निर्माण किया जा रहा है।
  • प्रदेश के 1 लाख 75 हज़ार मछुआरों को दुर्घटना बीमा योजना से जोड़ा गया है। स्मार्ट सिटी शहरों में युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए इन्क्यूबेशन सेंटर स्थापित किये गए हैं।
  • प्रदेश में 9 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे। इंदौर-भोपाल सहित एक अन्य जिले में तीन कैंसर हॉस्पिटल स्थापित किए जाएंगे।
  • सहकारी बैंकों द्वारा किसानों को 0 प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। इस कार्य हेतु वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 1000 करोड़ रुपए का प्रावधान प्रस्तावित है।
  • बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर पर जोर। कई सिंचाई योजना के लिए राशि। पुल, पुलिया, आरओबी के लिए बजट में बड़ी राशि।
  • नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग के अंतर्गत नीमच, आगर में 4000 मेगावाट की विद्युत परियोजना प्रस्तावित। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा का 14665 करोड़ रुपए बजट बढ़ाया गया।
  • जल जीवन मिशन के माध्यम महिलाओं के जीवन मे बदलाव आएगा। जल संसाधन विभाग के लिए अनुमान बजट 6436 करोड़। नर्मदा घाटी विभाग के लिए अनुमान बजट 3680 करोड़। 5000 करोड़ की लागत से 9 हजार नल जल योजनाएं।
  • हमें खाली खजाना और कोराना कि चुनौती मिली थी। इसके बाबजूद हमने प्रदेश के विकास के लिए अनेक कदम उठाए। हमने प्रतिकूल स्थिति के बाद भी हर वर्ग के लिए काम किया। 65 आदिवासी कन्या विद्यालय खुलेंगे। 2021-22 में 1000 भवन निर्माण होंगे।
  • प्रदेश में 220 में सर्व सुविधा युक्त स्कूल बनाए जाएंगे। इसके अलावा आत्मनिर्भर मप्र की समीक्ष के लिए आत्मनिर्भर पोर्टल बनाया गया है। आत्मनिर्भर मप्र का तानाबाना 4 स्तंभों के आसपास बुना है।
  • मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना पुनः प्रारम्भ की जाएगी। हमारे किसानों के अभूतपूर्व श्रम के कारण प्रदेश को 7 बार कृषि कर्मण पुरस्कार का सम्मान प्राप्त हुआ है। मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत प्रदेश के 57 लाख किसान लाभान्वित हुए।

UP का पहला पेपरलेस बजट पेश, अयोध्या के लिए 140 करोड़ का ऐलान, तो कोरोना वैक्सीन के लिए 50 करोड़

बजट को लेकर राहुल ने केंद्र सरकार पर बोला हमला, कहा- सरकार ने देश और घर दोनों का बजट बिगाड़ा

बजट 2021: जानें इस बार क्या हुआ सस्ता और क्या महंगा

बजट 2021: वित्त मंत्री ने किए ये बड़े ऐलान, आम आयकरदाता को टैक्स में राहत नहीं, इलेक्ट्रॉनिक सामान होंगे महंगे

Related posts