MP: मंत्री उषा ठाकुर का बेतुका बयान- नकली रेमडेसिवीर से भी बच रही जान, असली से भी हो रही लोगों की मौत

चैतन्य भारत न्यूज

अपने विवादित बयानों के चलते हमेशा सुर्खियों में बने रहने वाली मध्यप्रदेश की पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर एक बार फिर से चर्चा में हैं। इस बार उषा ठाकुर ने कोरोना के इलाज में इस्तेमाल हो रहे इंजेक्शन रेमडेसिवीर को लेकर बेतुका बयान दिया है।

नकली रेमडेसिवीर से भी बच रही जान

इस बार तो उषा ठाकुर ने रेमडेसिवीर इंजेक्शन पर ही सवाल उठा दिए हैं। उन्होंने कहा कि, ‘नकली रेमडेसिवीर लगने के बाद भी लोगों की जान बच रही है। यह बात सोचने पर मजबूर करती है कि कहीं असली रेमडेसिवीर, टोसी की हाई डोज देने के कारण लोगों की मौत तो नहीं हो रही है। मैं ऐसे 15-17 केस देख चुकी हूं जिनमें मुझे लगता हैं कि हाई दोसे के कारण मरीज की मौत हो गई है।’

दिया यह उदाहरण

उषा ठाकुर ने अपने परिचित किसान संघ के नेता मोहन पांडे का उदाहरण देते हुए कहा कि, ‘मोहन को रेमडेसिवीर इंजेक्शन और टोसी लगे, बावजूद इसके उनकी जान नहीं बची। कई लोग ऐसे भी थे जिन्हें नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन लगे, लेकिन वे ठीक हो गए।’

संजीवनी बूटी नहीं है रेमडेसिवीर

उन्होंने कहा कि, ‘रेमडेसिवीर, टोसी संजीवनी बूटी नहीं है। इसका प्रामाणिक इलाज भी नहीं है। नागरिक इसके पीछे ना पड़ें। डॉक्टर तय करेगा कि ये इंजेक्शन देना है या नहीं।’ गौरतलब है कि अभी दो दिन पहले मंत्री उषा ठाकुर ने यज्ञ चिकित्सा की वकालत करते हुए कहा था कि, ‘यज्ञ में आहुति डालने से कोरोना की तीसरी लहर नहीं आएगी।’ गुरूवार को भी पत्रकारों से बातचीत के दौरान भी वे अपने इस बयान पर टिकी रहीं।

MP: कोरोना बेकाबू, अस्पतालों में ऑक्सीजन-बेड की कमी, कोरोना भगाने के लिए अहिल्या माता की पूजा कर रहीं मंत्री उषा ठाकुर

MP : विधानसभा सत्र में कई नेता बिना मास्क के पहुंचे, उषा ठाकुर बोलीं- मैं प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़ती हूं, यह मेरा कोरोना से बचाव है

Related posts