मप्र: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पार्टी के सभी विधायकों को दिलाई शपथ, बोले- वादा करो हमेशा कांग्रेस में ही रहोगे

kamalnath

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मध्यप्रदेश के कांग्रेस प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने हाथ से सत्ता जाने और राजस्थान में मौजूदा सियासी संग्राम को देखते हुए कांग्रेस के विधायकों शपथ दिलवाई है। उन्होंने विधायकों से कांग्रेस पार्टी में ही रहने की शपथ ली है कि ‘वादा करो हमेशा कांग्रेस पार्टी में ही रहोगे।’

विधायकों का पार्टी छोड़ने का सिलसिला जारी

बता दें मध्य प्रदेश में कुछ दिनों में विधानसभा उपचुनाव भी हैं। ऐसे में कांग्रेस ने अपने विधायकों को पार्टी में बनाए रखने की कवायद शुरू कर दी है। अब भी सिंधिया खेमे के विधायकों के दलबदल कर कांग्रेस छोड़ भाजपा में जाने के बाद ये सिलसिला थमा नहीं है। पहले बड़ा मलहरा से विधायक प्रद्युम्न लोधी और फिर नेपानगर विधायक सुमित्रा कासेडकर के बीजेपी में जाने से कांग्रेस में घबराहट का माहौल बन गया है। ऐसी स्थिति में विधायक दल की बैठक में कमलनाथ ने विधायकों को पार्टी में ही रहने की शपथ दिलाई।

कमलनाथ ने विधायकों से कहा

कमलनाथ ने विधायकों से कहा कि, ‘अब कोई भी पार्टी से नहीं टूटेगा। पूरी शिद्दत से कांग्रेस सरकार की वापसी में एकजुटता से सारे विधायक जुटेंगे। सभी को कांग्रेस को मजबूत करने की दिशा में काम करना होगा। अपने चीफ के कहे अनुसार सभी विधायकों ने हाथ ऊपर कर कांग्रेस में रहने की शपथ ली।’

कमलनाथ बोले-हमारा उद्देश्य पार्टी मजबूत करना

कमलनाथ ने आगे कहा कि, ‘मेरा उद्देश्य सिर्फ कांग्रेस पार्टी को मजबूत करना है। इसीलिए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद फैसला किया कि मैं आप लोगों के बीच रहूंगा और जनता के बीच भाजपा सरकार के धोखे को पहुंचाया जाएगा। छिंदवाड़ा तक नहीं गया और 24 विधानसभा सीटों के उपचुनाव की रूपरेखा बनाना शुरू कर दिया।’ कमलनाथ ने सभी विधायकों से कहा कि, ‘आप सभी हौसला बनाए रखें। कांग्रेस ने 1977 का दौर भी देखा। उसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे, उनको हराकर सोनिया गांधी ने धमाकेदार वापसी की थी। कांग्रेस विधायकों को निराश नहीं होना है, बल्कि जीत के लिए मजबूती से आगे बढ़ना है।’

Related posts