मध्य प्रदेशः इमरती देवी ने छोड़ा मंत्री पद, सीएम शिवराज को सौंपा इस्तीफा, उपचुनाव में अपने ही समधी से हारी थीं

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. शिवराज सरकार में मंत्री और सिंधिया की करीबी नेता इमरती देवी ने आखिरकार मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। इमरती ने मंगलवार शाम को एक न्यूज चैनल को बताया कि उन्होंने अपना इस्तीफा सीएम शिवराज को सौंप दिया है। बता दें इमरती देवी शिवराज सरकार में महिला बाल विकास मंत्री थीं। हाल ही में 28 सीटों के लिए हुए विधानसभा उपचुनाव में डबरा विधानसभा क्षेत्र से वे चुनाव हार गई थीं।

अपने ही समधी से हारी थीं

बता दें कि शिवराज सरकार में मंत्री और बीजेपी उम्मीदवार इमरती देवी अपने ही रिश्तेदार सुरेश राजे से उप चुनाव हार गई थीं। इमरती देवी डबरा व‍िधानसभा सीट से उप चुनाव लड़ रही थी और यह मध्य प्रदेश के सबसे चर्चित सीट रही। इमरती को हराने वाले उनके ही समधी कांग्रेस के सुरेश राजे थे।

कंसाना और डंडोतिया पहले ही दे चुके हैं इस्तीफा

हाल ही में 28 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में शिवराज सरकार के तीन मंत्री चुनाव हार गए थे। चुनाव हारने वाले मंत्रियों में इमरती देवी, ऐंदल सिंह कंसाना और गिर्राज डंण्डौतिया शामिल थे। चुनाव हारने के बाद कंसाना और डंण्डौतिया पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं। इसके बाद आज इमरती देवी ने भी अपना इस्तीफा दे दिया है। सिंधिया की बगावत के बाद कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आने के बाद इन तीनों नेताओं को मंत्री बनाया गया था। उपचुनाव में मिली हार के बाद इन्हें त्यागपत्र देना पड़ा।

सिंधिया का कट्टर समर्थक

इमरती देवी को ज्योतिरादित्य सिंधिया का कट्टर समर्थक माना जाता है। ये वही इमरती देवी हैं, जिन्होंने इसी साल मार्च महीने में ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रति अपनी वफादारी को जाहिर करते हुए कहा था कि ‘सिंधिया कुएं में गिरे तो हम भी साथ गिरेंगे’।

Related posts