MP में गिरी कांग्रेस सरकार, CM कमलनाथ ने दिया इस्तीफा, कहा- सब सच्चाई सामने आएगी

kamal nath government

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मध्यप्रदेश सरकार पर छाए संकट के बाद आखिरकार शुक्रवार को कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। शाम को होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले ही कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस्तीफे का ऐलान किया। उन्होंने भाजपा पर अपनी सरकार को लगातार अस्थिर करने का आरोप लगाया और कहा कि, ‘बीजेपी याद रखे कि कल और परसो भी आएगा। सब सच्चाई सामने आएगी।’




कमलनाथ ने कहा कि, ‘जनता ने मुझे पांच साल का बहुमत दिया था लेकिन भाजपा सरकार 15 महीनों से सरकार गिराने की कोशिश कर रही है। मैंने हमेशा विकास में विश्वास किया है। हमारे विधायकों को कर्नाटक में बंधक बनाया गया। प्रदेश पूछ रहा है कि मेरा कसूर क्या है। चुनाव में कांग्रेस को सबसे ज्यादा वोट मिले थे। विधायकों को खरीदने के लिए करोड़ों रुपए खर्च किए गए।’

कमलनाथ ने गिनाई अपनी उपलब्धियां

इस दौरान कमलनाथ ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनवाते हुए कहा कि, ‘हमने आम लोगों के लिए काम किया, लेकिन ये भाजपा को रास नहीं आया। हमारी सरकार पर किसी तरह का आरोप नहीं लगा, बीजेपी ने किसानों के साथ धोखा किया लेकिन हमें उनके लिए काम नहीं करने दिया।’

महाराज के साथ मिलकर सरकार गिराने की साजिश 

कमलनाथ ने ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए बिना उनपर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘एक महाराज के साथ मिलकर भाजपा ने सरकार गिराने की साजिश रची। बीजेपी ने 22 विधायकों को बंधक बनाया और ये पूरा देश बोल रहा है।’ इस दौरान कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे का ऐलान किया है और कहा कि, ‘वो 1 बजे राज्यपाल लालजी टंडन को इस्तीफा सौंपेंगे।’

ये भी पढ़े…

मध्य प्रदेश: कमलनाथ ने दिया मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा

मप्र: 16 बागी विधायकों के इस्तीफे मंजूर

कमलनाथ सरकार का बड़ा फैसला, मैहर-चाचौड़ा और नागदा होंगे तीन नए जिले

Related posts