MP : कमलनाथ के पीछे पड़ी BJP, कहा- कमलनाथ नया वैरिएंट जो मुर्दों से भी बात करता है

shivraj kamal nath

चैतन्य भारत न्यूज

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा विवादित बयान देने के बाद से ही भाजपा उनके पीछे पड़ गई है। भाजपा और कांग्रेस के बीच वायरस के वैरिएंट पर सियासी लड़ाई तेज हो गई है। कमलनाथ के बयान पर राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ को ही नया वैरिएंट बता दिया है।

इनसे की कमलनाथ की तुलना

गृह मंत्री ने कहा है कि, ‘कमलनाथ मुर्दों से बात कर रहे हैं और कब्रिस्तान में लाशें गिन रहे हैं।’ गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ की तुलना जयचंद और मीर जाफर से की है। उन्होंने कहा कि, ‘जयचंद और मीर जाफर के बाद देश को बदनाम करने और अपमानित करने वाला नया कमलनाथ नाथ वैरियंट आया है। उम्र के इस पड़ाव पर भी उन पर इतनी पद लोलुपता हावी हो गई है कि वे देश को बदनाम करने का कोई अवसर नहीं छोड़ रहे हैं। वे मुर्दों से बात कर रहे हैं और कब्रिस्तान में लाशें गिन रहे हैं।’

CM शिवराज ने भी किया वार

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी कमलनाथ पर पलटवार करते हुए कहा कि, कांग्रेस झूठ बोलकर मध्य प्रदेश में आग लगाना चाहती है। शिवराज ने कमलनाथ पर तंज कसते हुए सोशल मीडिया पर कहा है, ‘कांग्रेस के झूठ का स्तर तो देखिए! प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ जी अपने बयान में कह रहे हैं कि अभी मैं रामचंद्र अग्रवाल जी से मिलकर आया हूं, उन्होंने मुझे बताया कि उनकी मृत्यु नकली रेमडेसिविर से हुई है। अब मृत्यु के बाद रामचंद्र जी बता रहे हैं कि उनकी मृत्यु कैसे हुई है।’ शिवराज ने कहा कि, ‘कमलनाथ के बयान से अंदाजा लगाया जा सकता है कि कांग्रेस का स्तर कितना नीचे चला गया है। ऐसी झूठी कांग्रेस से जनता को सावधान रहने की जरूरत है।’

कोरोना से मौतों के आंकड़ों पर कमलनाथ ने उठाए थे सवाल

कमलनाथ प्रदेश में कोरोना से हो रही मौतों को लेकर पिछले कई दिनों से सरकार को घेरते आ रहे हैं। शुक्रवार को सतना जिले के मैहर के दौरे पर गए थे जहां उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कोरोना से हुई मौतों पर एक बार फिर शिवराज सरकार को घेरा था और कहा था कि, प्रदेश में डेढ़ लाख लाशें श्मशान पहुंची हैं। इनमें से 80% शवों का अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल से किया गया है।

साथ ही उन्होंने यह आरोप भी लगाया था कि, ‘जनता को दिखाई देने वाले सरकारी आंकड़े झूठे हैं। प्रदेश में इन दिनों कोविड माफिया चल रहा है। अस्पतालों में बेड से लेकर दवाओं तक में कई गुना पैसे वसूले जा रहे हैं। भारत महान नहीं, बल्कि बदनाम है। हालत ये है कि विदेशों में अब भारतीय ड्राइवरों की टैक्सी में कोई बैठने को तैयार नहीं है। इसके लिए पीएम मोदी और उनकी सरकार जिम्मेदार है।’

Related posts