मप्र: फ्लोर टेस्ट की मांग पर SC ने कमलनाथ सरकार को भेजा नोटिस, कल होगी सुनवाई

mp bjp

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. मध्यप्रदेश में मार्च की शुरुआत से सियासी संग्राम जारी है। सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फ्लोर टेस्ट की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिस पर मंगलवार को सुनवाई हुई। कोर्ट ने बुधवार तक के लिए इस मामले पर सुनवाई स्थगित कर दी है।


सरकार को नोटिस जारी

कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार, स्पीकर और कांग्रेस पार्टी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इस मामले की सुनवाई कल सुबह 10:30 बजे होगी। पूर्व अटार्नी जनरल और बीजेपी की तरफ से पेश हुए वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि, ‘आज केस की सुनवाई है, लेकिन मुख्यमंत्री आदि कोई भी नहीं था। जिसके चलते कल यानी कि बुधवार सुबह 10:30 बजे बहस होगी।’

सीएम कमलनाथ पर साधा निशाना

उन्होंने कमलनाथ सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि, ‘बहुमत नहीं है और फ्लोर टेस्ट वह करना नहीं चाहते हैं।’ वहीं मध्य प्रदेश में कानून मंत्री पीसी शर्मा का कहना है कि, ‘मध्यप्रदेश की सरकार को सुप्रीम कोर्ट की न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है। जब जानकारी मिलेगी और नोटिस मिलेगा तभी आ पाएंगे।’

सोमवार को होना था फ्लोर टेस्ट

बता दें पहले सोमवार को विधानसभा में बजट सत्र की शुरुआत से पहले फ्लोर टेस्ट (शक्ति परिक्षण) होना था। लेकिन स्पीकर ने विधानसभा की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया। इसके बाद सोमवार को ही राज्यपाल लालजी टंडन ने कमलनाथ सरकार को पत्र लिखकर 17 मार्च तक बहुमत साबित करने का आदेश दिया।

ये भी पढ़े…

कांग्रेस के बागी विधायकों ने की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- सीएम कमलनाथ घमंड में आ गए, हमें मजबूरी में साथ छोड़ना पड़ा

मप्र: सीएम कमलनाथ को राज्यपाल की चेतावनी- कल तक साबित करें बहुमत, वरना अल्पमत मानेंगे

मप्र: फ्लोर टेस्ट की मांग लेकर SC पहुंची बीजेपी, सीएम कमलनाथ बोले- जहां जाना हो जाओ

मप्र: राज्यपाल से मिले सीएम कमलनाथ, कहा- फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हूं, लेकिन पहले हमारे बंधक विधायकों को मुक्त कराएं

Related posts