शिवराज सरकार का ऐलान: भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में 2 हजार बिस्तर के कोविड अस्पताल बनेंगे, गरीबों को 3 महीने तक फ्री राशन

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज जिला कलेक्टर्स से चर्चा करके निर्देश दिया है कि मोहल्ला, कालोनी, गांव, कस्बे से लोग 30 अप्रैल तक अपने घरों से बाहर न निकलें। साथ ही उन्होंने यह भी ऐलान किया कि प्रदेश के 4 बडे़े शहरों भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में 2,000 बेड के कोविड अस्पताल खोले जाएंगे। इसमें स्वयंसेवी संस्थाओं से मदद ली जाएगी। इंदौर के मौजूदा अस्पतालों में भी बेड की संख्या 4,000 से बढ़ाकर 6,000 करने का निर्देश दिया है।

सीएम ने कहा कि, ‘लोगो की सहमति से, उनसे आग्रह करें कि 30 अप्रैल तक घर में ही रहे। संक्रमण की चैन तोड़ना आवश्यक है। ये संकट का समय है।’ साथ ही मुख्यमंत्री ने गरीबों (बीपीएल कार्ड धारकों) को 3 महीने का राशन निशुल्क देने और 2 करोड़ परिवारों को काढ़ा बांटने की भी घोषणा की है।

सीएम ने कहा कि यह भी सुनिश्चित करें कि सैम्पल होने के बाद लोग बाहर न घूमें, होम आइसोलेशन की व्यवस्था सुदृढ़ हो, किट देना सुनिश्चित हो, होम आइसोलेशन में 2 बार बात की जाए, टेलीमेडिशन का उपयोग किया जाए। जिलों में जितनी आवश्यकता हो उतने कोविड केयर सेंटर खोले जाए और जो लोग अनुभवी हैं उन्हें जोड़ें, नई भर्ती करने की भी छूट कलेक्टर्स को है।

आर्मी अस्पतालों में मिलेंगे 430 बेड

प्रदेश में आर्मी और केंद्रीय संस्थानों के अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों का इलाज होगा। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बात की। इसके बाद सीएम ने सुदर्शन कोर कमांडर अतुल्य सोलंकी और बिग्रेडियर आशुतोष शुक्ला के साथ बैठक की। सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि आर्मी भोपाल, जबलपुर, सागर और ग्वालियर में अपने अस्पतालों में 430 बेड कोरोना मरीजों के लिए देने को तैयार है। इनमें से भोपाल में 150, जबलपुर में 100, सागर में 40 और ग्वालियर में 40 बेड की व्यवस्था की जाएगी। आर्मी इसके लिए अपना पैरामेडिकल स्टाफ भी उपलब्ध कराएगी।

Related posts