मप्र: फ्लोर टेस्ट की मांग लेकर SC पहुंची बीजेपी, सीएम कमलनाथ बोले- जहां जाना हो जाओ…

shivraj singh chouhan,kamalnath government,madhya pradesh

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. मध्य प्रदेश में जारी सत्ता की लड़ाई अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई है। सोमवार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होने वाला था। लेकिन राज्यपाल लालजी टंडन के अभिभाषण के बाद विधानसभा 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई। फ्लोर टेस्ट कैंसल होने के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी के नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की।



शिवराज सिंह चौहान की यह याचिका मध्य प्रदेश विधानसभा के स्पीकर एनपी प्रजापति के खिलाफ है। उन्होंने ही कोरोना वायरस को वजह बताते हुए विधानसभा को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया है। इसपर बीजेपी ने हंगामा भी किया था। शिवराज ने याचिका में कहा है कि, ’48 घंटे के अंदर फ्लोर टेस्ट करवाया जाए।’ बता दें सुप्रीम कोर्ट में याचिका पर मंगलवार को सुनवाई होगी।

बीजेपी ने दी तीन दलीलें

बीजेपी ने फ्लोर टेस्ट की मांग करते हुए तीन दलीलें दी हैं। पहली यह है कि राज्यपाल प्रमुख होता है। उन्होंने कहा लेकिन फिर भी बहुमत साबित नहीं किया जा रहा। 22 विधायक जब कांग्रेस से इस्तीफा दे चुके हैं तो कांग्रेस उनकी परेड की मांग कैसे कर सकती है। बीजेपी ने तीसरी दलील दी कि राज्यपाल के दो बार पत्र लिखने के बावजूद फ्लोर टेस्ट नहीं हुआ, जो संविधान की अवमानना है।

याचिका में कुछ खामियां

शिवराज के वकील ने जल्द से जल्द याचिका पर सुनवाई की मांग की है। जानकारी के मुताबिक, रजिस्ट्रार का कहना है कि उनकी याचिका में कुछ खामियां हैं, यदि उन्हें दूर किया गया तो मंगलवार को सुनवाई संभव है। बता दें शिवराज के अलावा 9 अन्य बीजेपी विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।

कमलनाथ बोले- बीजेपी को जहां जाना हो जाए

बीजेपी द्वारा अल्पमत का दावा करने पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि, ‘पिछले एक साल में तीन बार बहुमत साबित किया है, अगर इनको लगता है कि हमारी सरकार के पास बहुमत नहीं तो अविश्वास प्रस्ताव ले आएं।’ वहीं बीजेपी के सुप्रीम कोर्ट जाने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा कि, ‘बीजेपी को जहां जाना हो वो जाए।’

ये भी पढ़े…

मप्र: आधी रात को राज्यपाल से सीएम कमलनाथ ने की मुलाकात, फ्लोर टेस्‍ट पर सस्‍पेंस बरकरार

मप्र: राज्यपाल से मिले सीएम कमलनाथ, कहा- फ्लोर टेस्ट के लिए तैयार हूं, लेकिन पहले हमारे बंधक विधायकों को मुक्त कराएं

संकट में कमलनाथ सरकार, फिर भी है बहुमत का भरोसा, यहां देखें मप्र विधानसभा का गणित

 

 

Related posts