मप्र उपचुनाव: जीत की ओर बढ़ते देख गदगद हुए शिवराज, दिग्विजय बोले- नोटतंत्र जीत गया, लोकतंत्र हार गया

चैतन्य भारत न्यूज

मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को खास बढ़त मिलती दिख रही है। प्रदेश के 19 जिलों की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में 76% वोटों की गिनती पूरी हो गई है। 3 नवंबर को 28 सीटों पर 44.57 लाख वोट डाले गए थे। आज शाम 5 बजे तक 34.11 लाख वोटों की गिनती पूरी हो चुकी है। इन वोटों में से 50% वोट भाजपा के खाते में गए हैं। इनकी संख्या 17.49 लाख हैं। 28 विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव के नतीजे अभी आए नहीं हैं, लेकिन रुझान देखकर ही बीजेपी ने जश्न मनाना शुरू कर दिया है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे जनता की जीत बताया है और कहा कि सिंधिया बीजेपी में ऐसे घुल गए हैं जैसे दूध में शक्कर घुल जाती है। शिवराज सिंह चौहान ने इसे जनता की जीत बताया है और साथ ही कहा है कि, ‘कांग्रेस की नकारात्मक राजनीति को जनता ने नकार दिया है।’ शिवराज ने कहा कि, ‘ये जनता की जीत है, भाजपा में उनके विश्वास की जीत है। कांग्रेस ने मुद्दों से ध्यान भटका कर बयानों से जनता का ध्यान हटाने की कोशिश की लेकिन जनता ने विकास की राजनीति को चुना। सिंधिया जी इसी राजनीति को छोड़कर भाजपा में आए थे और अब तो भाजपा में ज्योतिरादित्य सिंधिया ऐसे घुल मिल गए हैं जैसे दूध में शक्कर घुल जाती है। भारतीय जनता पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को पूरी तरह से स्वीकार कर लिया है।’

दिग्विजय सिंह ने कही ये बात

उपचुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ होने का दावा करने वाले मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम और राज्‍यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने रुझान में कांग्रेस के पिछड़ने के बाद शिवराज सरकार पर जमकर हमला बोला है। उपचुनाव के नतीजों पर दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘मैंने आपसे सुबह कहा था कि चुनाव लोकतंत्र और नोटतंत्र के बीच है। जनता और प्रशासन के बीच है. नोटतंत्र जीत गया, लोकतंत्र हार गया है।’

Related posts