19 किलो सामान के साथ गश्त करेंगे धोनी, 15 दिन तक सैनिकों के साथ एक ही बैरक में रहेंगे

ms dhoni,dhoni in army

चैतन्य भारत न्यूज

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और लेफ्टिनेंट कर्नल (मानद) महेंद्र सिंह धोनी आज से जम्मू-कश्मीर में पेट्रोलिंग करेंगे। बुधवार से उनका ‘मिशन कश्मीर’ शुरू हो गया है। दक्षिण कश्मीर में विक्टर फोर्स के साथ धोनी 31 जुलाई से 15 अगस्त तक तैनात रहेंगे। अपनी ट्रेनिंग के दौरान धोनी गश्त, गार्ड और पोस्ट ड्यूटी करेंगे।


जानकारी के मुताबिक, धोनी की पोस्टिंग दक्षिण कश्मीर के अवंतीपोरा में हो रही है। पिछले कुछ समय से अवंतीपोरा आतंकी गतिविधियों का हब रहा है, ऐसे में धोनी की पोस्टिंग एक अहम जगह हो रही है। इस आतंकवादग्रस्त इलाके मेंं धोनी को 19 किलोग्राम वजनी सामान लेकर चलना पड़ेगा। इन सामानों में 5 किलो की 3 मैगजीन, 3 किलो की वर्दी, 2 किलो के जूते, 4 किलो के 3 से 6 ग्रेनेड, 1 किलो का हेलमेट और 4 किलो का बुलेटप्रूफ जैकेट शामिल है। धोनी वहां पैरा कमांडो की बटालियन में 15 दिन ड्यूटी करेंगे। वह स्वतंत्रता दिवस भी वहीं मनाएंगे। ये ट्रेनिंग खत्म होने के बाद धोनी अपनी अगली ट्रेनिंग के लिए बेंगलुरु चले जाएंगे।

बता दें पैरा कमांडो की जिस बटालियन में धोनी की तैनाती होगी वहां मिले-जुले सैनिकों की यूनिट है। इस बटालियन में देश के हर इलाके से आए करीब 700 सैनिक हैं। इनमें गोरखा, सिख, राजपूत, जाट जैसी सभी रेजीमेंट के सैनिक शामिल हैं। धोनी को यहां रात-दिन दोनों शिफ्टों में ड्यूटी करनी होगी। गौरतलब है कि धोनी टेरिटोरियल आर्मी की पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल हैं। उन्हें साल 2011 में सेना की टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक मिली थी।

ड्यूटी में क्या-क्या करेंगे धोनी

गश्त: धोनी 8-10 सैनिकों के दस्ते में श्रीनगर के बादामी बाग कैंट एरिया में गश्त करेंगे। इस दौरान उन्हें बुलेटप्रूफ जैकेट, एके-47 राइफल और 6 ग्रेनेड दिए जाएंगे। इस ड्यूटी का मकसद इलाके से खुफिया जानकारियां जुटाना है।

गार्ड ड्यूटी: बतौर गार्ड धोनी को यूनिट की रखवाली का काम करना होगा। यह काम 4-4 घंटे की दो शिफ्ट में होता है। यह शिफ्ट दिन और रात दोनों समय पर होती है। दिन की ड्यूटी पर धोनी काे सुबह 4 बजे उठना होगा और रात की ड्यूटी होने पर उन्हें सुबह जल्दी उठने से छूट मिलेगी।

पोस्ट ड्यूटी: धोनी को बंकर में बिना पलक झपकाएं खड़े रहना पड़ सकता है। यहां 2-2 घंटे की शिफ्ट में तीन बार तैनात रहना होगा। इस ड्यूटी में धोनी के धैर्य की परीक्षा ली जाएगी। इस ड्यूटी में धोनी को चुपचाप खड़े रहना है और बिना हिले लगातार लोगों को आते-जाते देखते रहना है।

ये भी पढ़े… 

सेना की खतरनाक विक्टर फोर्स के साथ 15 दिन तक ट्रेनिंग करेंगे धोनी

अगले 2 महीने तक क्रिकेट से दूर सैनिकों के साथ रहेंगे धोनी, संन्यास लेने से किया इनकार

VIDEO : देर रात धोनी ने पत्नी और बेटी संग कुछ इस अंदाज में सेलिब्रेट किया बर्थडे

Related posts