यूपी: सेना में फर्जी तरीके से भर्ती करवाने के आरोप में मुलायम सिंह यादव गिरफ्तार

चैतन्य भारत न्यूज

यूपी एसटीएफ ने सेना में फर्जी तरीके से भर्ती कराने वाले मुलायम सिंह यादव नाम के शख्स को प्रयागराज के कंपनी बाग के पास से गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ सिविल लाइंस थाने में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और फर्जीवाड़े की एफआईआर दर्ज थी। इस मामले में एसटीएफ दो फौजियों समेत 4 को पहले ही जेल भेज चुकी है।

सेना में कर चुका है कार्य

आरोप है कि मुलायम सिंह यादव, लाखों रुपए लेकर मेडिकली अनफिट अभ्यर्थियों को भी सेना में भर्ती करा देता था। वह इस गिरोह का सरगना है। आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत सिविल लाइन थाना प्रयागराज में मामला दर्ज था। एसटीएफ ने उसके पास से मोबाइल, मोटरसाइकिल और अन्य सामान बरामद किया है। बता दें मुलायम सिंह यादव पहले सेना में कार्य कर चुका है। जिसके बाद वह इन तरह के कार्यों में लिप्त पाया गया था।

फर्जी मेडिकल सर्टिफिकेट के लिए डॉक्टर से थी सेटिंग

मुलायम सिंह यादव की ट्रेनिंग के बाद पंजाब में नियुक्ति हुई थी। नौकरी करने के साथ ही वह कुछ भर्ती माफियाओं के साथ मिलकर सेटिंग कराने लगा। उसने अपने भांजे प्रदीप की भी फर्जीवाड़ा करके नियुक्ति कराई थी। इस काम में लखनऊ के एक डॉक्टर से भी उसकी सेटिंग थी जिसकी मदद से वह मेडिकल पास कराने के नाम पर अभ्यर्थियों से हजारों रुपए वसूलता था। पकड़े जाने पर मुलायम सिंह यादव ने बताया कि अप्रैल 2020 में वह रिटायर हुआ है।

भर्ती के लिए ढाई लाख रुपए वसूलता था

यूपी एसटीएफ को फिर इस गिरोह की जानकारी मिली थी। जिसके बाद सेना में फर्जी तरीके से भर्ती कराने वाले इस गिरोह के सरगना को गिरफ्तार कर लिया गया। मुलायम सिंह यादव मेडिकल पास कराने के लिए अभ्यार्थियों से 60 हजार लेता था। वहीं सेना में पूरी तरह से भर्ती कराने के लिए यह गिरोह अभ्यर्थियों से ढाई लाख रुपए तक वसूलता था।

Related posts