मुस्लिम समुदाय ने पेश की अनोखी मिसाल, जगन्नाथ रथ यात्रा के लिए भेंट किया चांदी का रथ

silver rath for jagannath,jagannath temple.jagannath rath yatra 2019

चैतन्य भारत न्यूज

अहमदाबाद. गुजरात के जमालपुर इलाके में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सांप्रदायिक एकता की अनोखी मिसाल पेश की है। पिछले करीब 20 साल से इस समुदाय के लोग भगवान जगन्नाथ मंदिर को चांदी का रथ दान कर रहे हैं। इस साल 142वीं जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जाएगी जिसके लिए मंदिर के महंत को चांदी का रथ भेंट किया गया है।

जगन्नाथ यात्रा 4 जुलाई से शुरू होने वाली है। इससे पहले रविवार को हर साल की तरह इस बार भी मुस्लिम समुदाय के लोग ढोल-नगाड़ों की थाप पर शहर के कई इलाकों से होते हुए जगन्नाथ मंदिर पहुंचे। फिर उन्होंने मंदिर के महंत को चांदी का रथ भेंट किया। इस मौके पर मुस्लिम नेता रउफ शेख ने कहा कि, ‘गोधरा कांड के बाद से ही हम लोग हर साल चांदी का रथ भगवान जगन्नाथ को दान करते हैं। हम यह सांप्रदायिक एकता फैलाने के लिए करते हैं। हम लोग पिछले 20 सालों से यह कर रहे हैं। रथ यात्रा के दौरान रास्ते में आने वाले सभी मुस्लिम इलाकों में यात्रा में शामिल होने वाले लोगों के लिए खान-पान की भी व्यवस्था की जाती है।’

अहमदाबाद जगन्नाथ मंदिर के महंत दिलीपदास जी महाराज ने कहा, ‘रउफ शेख कई सालों से मंदिर को रथ चढ़ा रहे हैं। सांप्रदायिक सौहार्द फैलाने की कोशिश के लिए मैं मुस्लिम समुदाय का शुक्रिया अदा करता हूं। साथ ही मैं भगवान से यह भी प्रार्थना करता हूं कि इसी तरह सांप्रदायिक सौहार्द बना रहे।’

बता दें, 142वीं जगन्नाथ रथयात्रा के लिए गुजरात के अहमदाबाद में सुरक्षा के लिए कड़े इंतजाम किए गए हैं। 4 जुलाई से शुरू होने वाली इस रथयात्रा की सुरक्षा के तहत करीब 25 हजार से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। साथ ही सीसीटीवी कैमरों और ड्रोन कैमरों से भी रथयात्रा की हर गतिविधि पर नजर रखी जाएगी। जानकारी के मुताबिक, यह यात्रा 14 किलोमीटर का सफर तय करती है। रथयात्रा में 3 रथ, 19 गजराज, 100 ट्रक, 30 मंडलियां और 7 कारें शामिल होती हैं।

यह भी पढ़े… 

विश्व प्रसिद्ध जगन्नाथ रथ यात्रा 4 जुलाई से होगी शुरू, छुट्टियां मनाने मौसी के घर जाएंगे भगवान

Related posts