मुजफ्फरपुरः दुष्कर्म नहीं कर सका तो लड़की को जिंदा जलाया, पीड़िता की अस्पताल में मौत

rape and burned

चैतन्य भारत न्यूज

पटना. देशभर में दुष्कर्म की वारदातें कम नहीं हो रही हैं। दुष्कर्म करने के बाद बचने के लिए आरोपी पीड़िता को जिंदा जला रहे हैं। कुछ दिन पहले ही देश की दो बेटियों ने जलने के बाद दम तोड़ दिया था और अब एक और बेटी ने मौत को गले लगा लिया है। बिहार के मुजफ्फरपुर में जिंदा जलाई गई पीड़िता की सोमवार देर रात मौत हो गई।


95 फीसदी जल चुकी थी पीड़िता

जानकारी के मुताबिक, 7 दिसंबर को मुजफ्फरपुर जिले के अहियापुर थाना क्षेत्र में दुष्कर्म में विफल दरिंदे ने अपने एक साथी के साथ मिलकर पीड़िता को जिंदा जला दिया था। सूत्रों के मुताबिक, पीड़िता 95 फीसदी जल चुकी थी। ऐसे में शरीर में इन्फेक्शन फैलने का सबसे ज्यादा डर था इसलिए उसकी स्थिति बेहद चिंताजनक बनी हुई थी। फिर पीड़िता को गंभीर हालत में 10 दिसंबर को पटना के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां सोमवार रात करीब 11:40 बजे उसकी मौत हो गई।

5 साल से कर रहा है प्रताड़ित

परिजनों ने बताया कि आरोपी युवक राजा पिछले 5 साल से लगातार पीड़िता को मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा है। इस संबंध में परिजनों ने स्थानीय अहियापुर थाने में कई बार न्याय की गुहार लगाई थी। उन्होंने इस पूरे मामले में सीधे तौर पर कहा कि, ‘अगर पुलिस इस मामले में त्वरित कार्रवाई करती तो इस घटना को रोका जा सकता था।’ पीड़िता के पटना आने के बाद यह बयान दिया था कि, आरोपी राजा राम राय और उसके साथी ने ही उसे जलाया है। जिसके बाद पुलिस ने राजा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

अधूरा रह गया सपना

पीड़िता का यह सपना था कि वह नर्स बनकर लोगों की सेवा कर सके। वह इसके लिए नर्सिंग की ट्रेनिंग भी शुरू करने वाली थी। लेकिन उसके सभी सपने अधूरे ही रह गए। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही हैदराबाद की महिला डॉक्टर और उन्नाव की पीड़िता को दुष्कर्म के बाद जिंदा जला दिया गया था, जिसमें दोनों की ही मौत हो गई थी।

ये भी पढ़े…

उन्नावः जमानत पर छूटे दुष्कर्म आरोपितों ने पीड़िता पर पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया

हैदराबाद: जिस जगह महिला डॉक्टर के साथ दुष्कर्म कर जलाया, वहीं मिला एक और महिला का जला हुआ शव

जिंदगी से जंग हार गई उन्नाव रेप पीड़िता, आखिरी वक्त तक कहती रही- मैं जीना चाहती हूं, दोषियों को छोड़ना नहीं

 

Related posts