नाग पंचमी पर जीवित सांप की पूजा करने से बचें, नागदेव की प्रतिमा की इस विधि से करें पूजा

चैतन्य भारत न्यूज

हिंदू धर्म में नाग पंचमी का विशेष महत्व है। हर साल सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को ये पर्व मनाया जाता है। इस बार नाग पंचमी का पर्व 25 जुलाई यानी शनिवार को है। नाग पंचमी पर आपको जीवित सांप की नहीं, नागदेवता की प्रतिमा की पूजा करनी चाहिए।

पंचमी पर नाग मंदिर में या घर में ही करनी चाहिए पूजा 

महान ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, भोलेनाथ नाग देवता को अपने गहने के रूप में धारण करते हैं। इस दिन नाग देवता के साथ भगवान शिव की भी पूजा करनी चाहिए। ध्यान रहे इस दिन जीवित सांप को दूध न पिलाएं बल्कि नाग देवता की प्रतिमा पर दूध अर्पित करें। नागदेव की प्रतिमा का पूजन मंदिर में या घर में ही करना चाहिए। आपको बता दें सांप मांसाहारी होते हैं, ये जीव दूध नहीं पीता है। दूध सांप के लिए जहर की तरह होता है। जिससे सांप मर सकता है।

नाग पंचमी पूजा विधि

  • नाग पूजा में हल्दी को उपयोग जरूर करना चाहिए।
  • धूप, दीप अगरबत्ती जलाकर पूजा करें।
  • मिठाई का भोग लगाएं।
  • नारियल अर्पित करें।

ये भी पढ़े…

साल में एक बार सिर्फ नाग पंचमी पर ही खुलते हैं इस मंदिर के कपाट, स्वयं नागराज देते हैं दर्शन

नागेश्वर पंचमी, परेशानी से मुक्ति और विजय प्राप्ति के लिए की जाती है शिव पूजा

नागपंचमी 2019 : सांपों को दूध पिलाने से हो सकती है उनकी मौत 

Related posts