नोटबंदी जैसा दूसरा बड़ा कदम उठाने की तैयारी में मोदी सरकार, इस बार ‘सोने’ पर है नजर

narendra modi

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. नोटबंदी के बाद मोदी सरकार काले धन को उजागर करवाने के लिए एक और बड़ा कदम उठाने की तैयारी में है। इस बार नोट तो बंद नहीं होंगे लेकिन कालेधन पर लगाम लगाने के लिए लोगों से उनके पास मौजूद सोने का हिसाब मांगा जा सकता है। इसके लिए सरकार एक खास स्कीम ला सकती है। सूत्रों के मुताबिक, इनकम टैक्स की एमनेस्टी स्कीम की तरह सरकार सोने के लिए एमनेस्टी स्कीम (Amnesty Scheme) ला सकती है। इसमें तय मात्रा से ज्यादा बगैर रसीद के सोना होने पर उसकी जानकारी देना जरुरी होगी और सोने की कीमत भी सरकार को बतानी होगी।



जानकारी के मुताबिक, इस एमनेस्टी स्कीम के तहत सोने के दाम तय करने के लिए वैल्यूएशन सेंटर से सर्टिफिकेट लेना होगा। बगैर रसीद वाले जितने सोने का खुलासा करेंगे उस पर एक तय मात्रा में टैक्स देना होगा। ये स्कीम एक खास समय सीमा के लिए ही खोली जाएगी। यदि स्कीम खत्म हो गई तो इसके बाद तय मात्रा से ज्यादा सोना पाए जाने पर भारी जुर्माना देना होगा। मंदिर और ट्रस्ट के पास रखे हुए सोने को भी प्रोडक्टिव इन्वेस्टमेंट के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए घोषणा हो सकती है।

gold,silver

सूत्रों के अनुसार, वित्त मंत्रालय के इकोनॉमिक अफेयर्स विभाग और राजस्व विभाग ने मिलकर इस स्कीम को तैयार किया है। इसके बाद वित्त मंत्रालय ने अपना प्रस्ताव कैबिनेट के पास भेजा है। बताया जा रहा है कि जल्द ही कैबिनेट से भी इसको मंजूरी मिल सकती है। इसे लेकर अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में ही कैबिनेट में चर्चा होनी थी लेकिन महाराष्ट्र और हरियाणा के राज्य चुनाव के कारण इसे आखिर समय पर टाला दिया गया।

ये भी पढ़े…

मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, करोड़ों लोगों को मिलेगी सस्ते इलाज की सुविधा

मनमोहन सिंह का मोदी सरकार पर हमला- अर्थव्यवस्था लगातर बिगड़ती जा रही, सरकार जरा भी गंभीर नहीं

50 लाख सरकारी कर्मचारियों को मोदी सरकार की बड़ी सौगात, 5% बढ़ा महंगाई भत्ता

Related posts