पीएम मोदी ने किया करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन, इमरान खान को धन्यवाद कहकर सिख श्रद्धालुओं के जत्थे को किया रवाना

pm modi

चैतन्य भारत न्यूज

गुरदासपुर. पिछले करीब 70 सालों से भारतीय सिखों को जिस समय का बेसब्री से इंतजार था वो आज आ ही गया। श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर भारत और पाकिस्तान के बीच दरार बनी दीवार को आज तोड़ दिया गया, साथ ही करतारपुर साहिब कॉरिडोर के द्वार खोल दिए गए। इस खास मौके पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का शुक्रिया अदा किया।



पीएम मोदी ने इमरान को शुक्रिया कहते हुए कहा कि, ‘गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश-उत्सव से पहले, इंटीग्रेटेड चेकपोस्ट और करतारपुर साहिब कॉरिडोर का खुलना हम सभी के लिए दोहरी खुशी है। इमरान ने करतारपुर कॉरिडोर के विषय में भारत की भावनाओं को समझा, सम्मान दिया और उसी भावना के अनुरूप कार्य किया।’ बता दें पीएम मोदी ने आज करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया और वहां जाने वाले भारतीय श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को पंजाब के गुरदासपुर जिला स्थित ऐतिहासिक नगर डेरा बाबा नानक से पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिए रवाना किया।


इस जत्थे में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी भी शामिल थे। इस दौरान पीएम मोदी ने उनसे भी मुलाकात की। बता दें उद्धघाटन समारोह से पहले पीएम मोदी ने पंजाब के सुल्तानपुर लोधी शहर पहुंचकर बेर साहिब गुरुद्वारे में मत्था टेका। साथ ही वे पाकिस्तान की सीमा से लगे डेरा बाबा नानक गुरुवारे में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए।


पीएम मोदी ने कहा कि, ‘गुरु नानक देव जी, सिर्फ सिख पंथ की, भारत की ही धरोहर नहीं, बल्कि पूरी मानवता के लिए प्रेरणा पुंज हैं। मैं आप सभी को, देश और दुनिया में बसे सभी सिख भाई-बहनों को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के अवसर पर हार्दिक बधाई देता हूं। इस कॉरिडोर के बनने के बाद अब गुरुद्वारा दरबार साहब के दर्शन आसान हो जाएंगे। मैं पंजाब सरकार का, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का इस कॉरिडोर को तय समय में बनाने वाले हर श्रमिक साथी का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं।’

ये भी पढ़े…

पीएम मोदी ने बेर साहिब गुरुद्वारे में टेका मत्था, खोले कॉरिडोर का द्वार

करतारपुर साहिब गुरुद्वारे का क्‍या है इतिहास? जानें बंटवारे से लेकर अब तक की कहानी

इमरान खान का बड़ा फैसला : करतारपुर जाने वाले श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की जरुरत नहीं

 

 

Related posts