बड़ी लापरवाही: लावारिस मिला 8 करोड़ की ‘कोवैक्सीन’ से लदा ट्रक, ड्राइवर-कंडक्टर दोनों गायब

चैतन्य भारत न्यूज

एक ओर जहां देश में कोरोना वैक्सीन की कमी बनी हुई है तो वहीं दूसरी ओर वैक्सीन के ट्रांसपोर्टेशन में बड़ी लापरवाही देखने को मिली है। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में वैक्सीन से भरा ट्रक सड़क किनारे पाया गया है, वह भी चालू हालत में। ट्रक में कोरोना वैक्सीन की 2 लाख 40 हजार डोज रखी हुई थीं।

8 करोड़ रुपए है वैक्सीन की कीमत

जानकारी के मुताबिक, हैदराबाद से करनाल पंजाब भेजा गया था। इस ट्रक में कोवैक्सीन की ढाई लाख डोज रखी हुई थी। ट्रक चालक और उसका साथी दोनों फरार है। फिलहाल पुलिस मौके पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने जब गाड़ी के कागजों की जांच की तो पता चला कि गुड़गांव की टीसीआई कोल्ड चेन सॉल्यूशन कंपनी का यह कंटेनर ट्रक है कोवैक्सीन की 2 लाख 40 हजार डोज लेकर हैदराबाद से पंजाब के करनाल जा रहा था। इसकी कीमत करीब 8 करोड़ रुपए थी। गनीमत यह थी कि ट्रक चालू हालत में था जिसकी वजह से उसका कूलिंग सिस्टम चालू रहने से वैक्सीन खराब नहीं हो सकी।

उप्र निवासी है चालक

करेली थाना के एसआइ आशीष बोपचे ने बताया कि नए बस स्टैंड के पास खड़े वाहन में वैक्सीन हैं और यह कंटेनर हैदराबाद से पंजाब जाने निकला था। कंटेनर चालक अमेठी उप्र निवासी विकास मिश्रा था, जो वाहन को छोड़कर भाग गया। पुलिस ने ड्राइवर और कंडेक्टर के मोबाइल ट्रेसिंग की,जिसकी लोकेशन 15 किलोमीटर दूर झाड़ियों में दिखा रही थी। पुलिस ने यहां से मोबाइल को बरामद कर लिया है।

वैक्सीन की कालाबाजारी जोरों पर

दरअसल, पूरे देश में वैक्सीन की कमी है, वहीं दूसरी ओर इसकी कालाबाजारी भी जोरों पर है। इससे पहले भी मध्य प्रदेश में वैक्सीन कालाबाजारी की खबरें सुर्खियों में रही है। सरकार की ओर से वैक्सीन कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश हैं। बावजूद इसके लावारिस हाल में ट्रक मिलना कई सवालों को जन्म देता है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर किसी बड़ी साजिश को पर्दाफाश करने की बात कह रही है।

Related posts