कन्या पूजन के दौरान इन खास नियमों का पालन जरूर करें, नहीं तो अधूरी रह जाएगी मां दुर्गा की उपासना

navratri 2019, kanya pujan shubh muhurat, kanya pujan vidhi ,kanya bhoj ke niyam,kanyabhoj ka mahatav

चैतन्य भारत न्यूज

नवरात्रि का पवन पर्व चल रहा है और इस दौरान कन्या भोज का अधिक महत्व है। नवरात्रि के इन 9 दिनों में भक्‍तजन मां के नौ स्‍वरूपों की पूजा करते हैं और अष्टमी और नवमी के दिन कन्‍याओं की पूजा कर के इसका उद्यापन करते हैं। मान्यता है कि कन्याओं को देवियों की तरह आदर सत्कार और भोज कराने से मां दुर्गा प्रसन्न होती है और अपने भक्तो को सुख समृद्धि का वरदान देती है। तो आइए जानते हैं कन्या भोज का महत्व और इसके नियम।



navratri 2019, kanya pujan shubh muhurat, kanya pujan vidhi ,kanya bhoj ke niyam,kanyabhoj ka mahatav

कन्या भोज का महत्व

नवरात्रि के दौरान नौ कन्‍याओं को घर बुलाकर उन्हें भोज कराया जाता है साथ ही उनकी पूजा भी की जाती है। ऐसा इसलिए किया जाता है कि क्योंकि दुर्गाष्टमी और नवमी के दिन इन कन्याओं को नौ देवी का रूप माना जाता है। कुछ लोग नवमी के दिन भी कन्या पूजन और भोज रखते हैं और कुछ लोग अष्टमी के दिन। लेकिन अष्टमी के दिन कन्या पूजन श्रेष्ठ रहता है।

navratri 2019, kanya pujan shubh muhurat, kanya pujan vidhi ,kanya bhoj ke niyam,kanyabhoj ka mahatav

कन्या भोज के नियम

  • कन्‍या भोज और पूजन के लिए कन्‍याओं को एक दिन पहले ही आमंत्रित कर देना चाहिए।
  • कन्याओं की आयु 2 साल से 10 साल तक होनी चाहिए और इनकी संख्या कम से कम 9 तो होनी ही चाहिए।
  • कन्या भोज के दौरान इन नौ कन्याओं के साथ एक बालक भी होना चाहिए। दरअसल नौ कन्यों के साथ बालक को हनुमानजी का रूप माना जाता है। मान्यता है कि जिस प्रकार मां की पूजा भैरव के बिना पूर्ण नहीं होती, उसी तरह कन्या-पूजन के समय एक बालक को भी भोजन कराना जरूरी होता है।

navratri 2019, kanya pujan shubh muhurat, kanya pujan vidhi ,kanya bhoj ke niyam,kanyabhoj ka mahatav

  • भोजन के दौरान कन्याओं को आरामदायक और स्वच्छ जगह बिठाकर सभी के पैर धोने चाहिए। उसके बाद माथे पर अक्षत, फूल और कुंकुम लगाना चाहिए।
  • इसके बाद मां भगवती का ध्यान करके इन देवी रूपी कन्याओं को इच्छा अनुसार भोजन कराएं।
  • भोज के बाद कन्याओं को अपने सामर्थ्‍य के अनुसार दक्षिणा या उपहार दें और उनके पैर छूकर आशीर्वाद लें।

ये भी पढ़े…

शारदीय नवरात्रि : भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हैं देवी मां के शक्ति पीठ, जानिए इनकी महिमा

नवरात्रि में करें मां दुर्गा के इन खास मंत्रों का जाप, जरुर प्रसन्न होंगी देवी और करेंगी हर मुराद पूरी

नवरात्रि में इन जगहों पर होता है भव्य मेले का आयोजन, परिवार संग जरूर जाएं घूमने

Related posts