नक्सलियों ने जारी की बंधक जवान की तस्वीर, कहा- वो हमारे पास सुरक्षित, परिजनों बोले- वीडियो क्लिप करें सार्वजनिक

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. नक्सलियों ने 3 अप्रैल की मुठभेड़ के बाद CRPF के जिस कोबरा कमांडो को अगवा किया था, आज उसकी तस्वीर जारी की है। इसमें CRPF की कोबरा बटालियन के जवान राकेश्वर नक्सलियों के कैंप में बैठे नजर आ रहे हैं। नक्सलियों की ओर से जारी इस तस्वीर के साथ ही दावा किया गया है कि जवान सुरक्षित है।

सुरक्षित है जवान

बता दें नक्सलियों ने मुठभेड़ के तीसरे दिन कुछ स्थानीय मीडिया कर्मियों और चौथे दिन एक पत्र जारी कर दावा किया था कि लापता जवान उनके कब्जे में है। नक्सलियों ने जारी पत्र में लिखा था कि, ‘जवान सुरक्षित है और उन्हें छुड़ाने के लिए सरकार मध्यस्थ का नाम तय करे।’ इसके बाद बुधवार को नक्सलियों ने जवान की तस्वीर जारी की और फिर से कहा कि जवान उनके कब्जे में सुरक्षित है।

परिवार ने की वीडियो क्लिप जारी करने की मांग

CRPF ने राजेश सिंह मन्हास की तस्वीर की पुष्टि की है। इस तस्वीर में राकेश्वर सिंह पूरी तरह से स्वस्थ दिख रहे हैं। लापता जवान के परिजनों ने नक्सलियों से जवान का वीडियो या कोई ऑडियो क्लिप जारी करने की अपील की है।

22 जवानों की शहादत

बता दें कि बीते 3 अप्रैल को बीजापुर के तर्रेम थाना क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें 22 जवान शहीद हो गए थे। इसके अलावा 31 जवान घायल और 1 लापता हो गए। लापता जवान की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

ये भी पढ़े…

 22 जवान को शहीद करने के बाद सरकार से बातचीत करना चाहते हैं नक्सली, लापता जवान को छोड़ने के लिए रखी यह शर्त

नक्सली हमला: गृह मंत्री अमित शाह ने जगदलपुर पहुंचकर दी शहीदों को श्रद्धांजलि, नक्सलियों पर बड़े एक्शन की तैयारी में

22 जवानों की मौत का जिम्मेदार है हिडमा, अनपढ़ है फिर भी बोलता है फर्राटेदार अंग्रेजी, दोनों पत्नियां भी नक्सल गतिविधियों में शामिल

Related posts