1 जनवरी 2020 से यह खूबसूरत देश त्याग देगा अपना उपनाम, नया लोगो हुआ जारी

netherlands

चैतन्य भारत न्यूज

द हेग. बुधवार से साल 2020 की शुरुआत होने जा रही है। नए साल से हर देश में अलग-अलग बदलाव होते हैं। एक ऐसा ही बदलाव यूरोप का देश नीदरलैंड कर रहा है। हर देश की पहचान उसके नाम से जुड़ी होती है। लेकिन नीदरलैंड कल यानी 1 जनवरी 2020 से आधिकारिक तौर पर अपना उपनाम (निकनेम) ‘हॉलैंड’ छोड़ने जा रहा है।

दुनियाभर में नीदरलैंड हॉलैंड के नाम से जाना जाता है। यहां तक कि नीदरलैंड के टूरिज्म वेबसाइट पर भी हॉलैंड डॉट कॉम (Holland.com) लिखा मिलता है। 1 जनवरी, 2020 से नीदरलैंड में जितने सरकारी कार्यालय हैं, कंपनियां हैं, दूतावास और मंत्रालय हैं, सबके नाम के साथ लिखा हॉलैंड हटा दिया जाएगा। अब से इस देश को सिर्फ इसके आधिकारिक नाम नीदरलैंड से बुलाया जाएगा।

इसलिए नाम से हटाया जा रहा ‘हॉलैंड’

बता दें हॉलैंड नीदरलैंड का एक क्षेत्र है जिसमें एम्स्टर्डम, रॉटरडैम और द हेग जैसे प्रसिद्ध शहर शामिल हैं। इन्हीं सब शहरों में दुनियाभर से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। अक्सर लोग इस देश को हॉलैंड ही कह देते हैं। सिर्फ एम्सटर्डम शहर की ही बात करें तो यहां के स्थाई निवासियों की संख्या 10 लाख के करीब है। लेकिन हर साल यहां 1.70 करोड़ से भी ज्यादा पर्यटक आते हैं। इस देश की सरकार चाहती है कि पर्यटक नीदरलैंड के दूसरे शहरों में भी जाएं।

नाम रीलॉन्च करने के लिए 59 लाख का बजट तय

जानकारी के मुताबिक, हॉलैंड उपनाम को छोड़ने का एक कारण टोक्यो में हो रहे ओलंपिक 2020 में भाग लेना और यूरोविजन सॉन्ग कॉन्टेस्ट की मेजबानी करना भी है। नीदरलैंड की सरकार इसके लिए रीब्रैंडिंग कैंपेन भी चला रही है। सूत्रों के मुताबिक, नीदरलैंड नाम को रीलॉन्च करने के लिए सरकार ने दो लाख यूरो यानी करीब एक करोड़ 59 लाख रुपए का बजट तय किया है।

नया लोगो हुआ लॉन्च

वहीं नीदरलैंड के बड़े नेता और अधिकारी भी यह चाहते हैं कि, देश की पहचान एक नाम से होने से ज्यादा अच्छी रहेगा। इसीलिए वहां के ट्रेड मिनिस्टर सिग्रीड काग ने एक नए लोगो ‘एनएल’ का भी अनावरण किया है।

यह भी पढ़े…

वार्षिक राशिफल 2020: जानिए नए साल में किसकी चमकेगी किस्मत और किसे करना पड़ेगा मुसीबतों का सामना

 

Related posts