शादी के बाद पैसों से संबंधित ये 5 गलतियां करने से बिगड़ने लगते हैं रिश्ते

investment

चैतन्य भारत न्यूज

खुशहाल, कामयाब और सुखद शादीशुदा जिंदगी के लिए सभी लोग कड़ी मेहनत करते हैं। बावजूद इसके कई शादियों का अंत जल्द ही हो जाता है। वैसे तो तलाक के बहुत से कारण होते हैं लेकिन इनमें सबसे प्रमुख कारण होता है ‘पैसा’। कई अध्ययन में भी यह सामने आया है कि, पैसे से जुड़े मामले ही असफल और नाकामयाब शादी के कारणों में से एक होते हैं। किसी भी शादी में फाइनेंशियल तालमेल, सबसे जटिल लेकिन एक तनाव मुक्त संबंध को बनाए रखने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कारकों में से एक है। इसलिए यदि आप भी एक कामयाब और खुशहाल शादीशुदा जिंदगी जीना चाहते हैं तो आपको पैसों से जुड़ी कुछ आम गलतियों से दूर रहना जरूरी है। आइए जानते हैं कौनसी हैं वो गलतियां-


फाइनेंस के मामले में एक जैसी सोच न होना 

पैसों से संबंधित मामले बेहद संवेदनशील होते हैं, लेकिन इन्हें अनदेखा नहीं करना चाहिए। शादी से पहले और बाद में आपको अपने पार्टनर के साथ पैसों से जुड़ी बातचीत करना बहुत जरूरी होता है। पार्टनर से आपको अपनी इनकम, लोन, आवश्यक खर्च, निवेश आदि के बारे में ईमानदारी के साथ और खुलकर बात करनी चाहिए। गोपनीयता जरुरी है लेकिन अपने पार्टनर से नहीं। एक-दूसरे को अपने बैंक अकाउंट्स या लोन्स जैसी महत्वपूर्ण बातें न बताने से आपको या आपके पार्टनर को आने वाले समय में कई तरह की परेशानियां उठानी पड़ सकती हैं। इसलिए शादीशुदा जिंदगी शुरू होने के साथ ही पैसों से जुड़ी बातचीत हो जानी चाहिए, जिससे कि आप अपने पार्टनर के साथ मिलकर आगे की प्लानिंग कर सके।

यह सोचकर खर्च करना कि ये जिंदगी न मिलेगी दोबारा

शादी के साथ एक नए जीवन की शुरुआत हो जाती है। कपल्स किसी ट्रिप पर, दोस्तों के साथ पार्टी या अक्सर कहीं ना कहीं जाने लगते हैं जिससे कि शादीशुदा जिंदगी की शुरुआत खुशनुमा रहे। इस चक्कर में कई बार लोग बजट से बाहर चले जाते हैं या लिमिट से ज्यादा खर्च कर बैठते हैं। इससे फाइनेंशियल हेल्थ पर बुरा असर पड़ सकता है। इसलिए जब भी आप खर्च कर रहे हैं या कोई प्लान बना रहे हैं तो पहले अपना बजट तय कर लें, जिससे कि आपको आगे किसी भी तरह की आर्थिक परेशानी न हो। इससे आपको अपने फाइनेंस पर नजर रखने के साथ-साथ जरूरत से ज्यादा खर्च करने से बचने में भी मदद मिलेगी।

नई जिंदगी का मजा उठाने के लिए क्रेडिट पर निर्भर रहना

नई शादीशुदा जोड़े अक्सर एक गलती कर बैठते हैं कि वे लोग क्रेडिट कार्ड पर निर्भर होते चले जाते हैं। ऐसे में वह अपनी चुकाने की क्षमता से ज्यादा उधार ले लेते हैं और फिर धीरे-धीरे कर्ज के जाल में फंसते चले जाते हैं। इससे बाहर आने में उन्हें लंबा समय लग जाता है। इसलिए यदि आप भी कहीं बाहर जाने की प्लानिंग कर रहे हैं या फिर घर के लिए कोई बड़ी खरीदारी करना चाहते हैं तो पहले से इसकी प्लानिंग करके रखने की कोशिश करें। या फिर आप ऐसा लोन लें जिससे कि आपकी रेगुलर इनकम पर कोई दबाव न पड़े।

कर्ज को छुपाना

कभी भी अपने पार्टनर से कर्ज की बात न छुपाएं। यह रिश्तों में होने वाली सबसे बड़ी गलती होती है जो कई बार रिश्तों को अंत तक ले जाती है। शादीशुदा जिंदगी की शुरुआत हमेशा ईमानदारी से की जानी चाहिए। आप अपने जीवनसाथी से मनी मैनेजमेंट के बारे में खुलकर बात करें। यदि आपने कर्ज लिया भी है तो आप अपने पार्टनर को जरूर बताएं क्योंकि आपको पूरी जिंदगी उनके साथ गुजारनी है। ऐसे में वह भी आपको कर्ज से छुटाकारा पाने के लिए जरूरी रकम जुटाने का तरीका ढूंढने में मदद करेंगी।

पैसों से जुड़े मामलों में अपने जीवनसाथी को बराबर न समझना

कई रिश्तों में लोग यह गलती कर बैठते हैं कि वे पैसों से जुड़े मामलों में एक-दूसरे का सम्मान नहीं करते हैं। पैसे की आवाजाही पर चर्चा करना अच्छी बात है लेकिन इस चर्चा के दौरान एक-दूसरे का हमेशा सम्मान करना चाहिए और शांति से बातचीत की जानी चाहिए। आपका कोई भी तर्क जीवनसाथी के लिए कभी भी अपमानजनक और शर्मनाक नहीं होना चाहिए।

ये भी पढ़े…

इन 4 कारणों से रिलेशनशिप में होने के बावजूद भटकता है मन

कहीं ये तो नहीं आपकी रिलेशनशिप खराब होने की वजह?

रिलेशनशिप की वो कड़वी सच्चाईयां, जिसे कोई भी स्वीकार नहीं करना चाहता

Related posts