एंटीलिया केस: एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा गिरफ्तार, घर से बरामद हुए विस्फोटक कांड से जुड़े कई सबूत

चैतन्य भारत न्यूज

एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन मर्डर मामले में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। गुरूवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा के मुंबई स्थित आवास पर छापेमारी की। प्रदीप शर्मा से घंटों पूछताछ के बाद एनआईए ने गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि प्रदीप शर्मा एनआईए के रडार पर काफी समय से चल रहे थे, लेकिन जांच एजेंसी के पास प्रदीप शर्मा के खिलाफ पूख्ता सबूत नहीं थे। अब एनआईए को प्रदीप के खिलाफ ठोस सबूत मिले हैं।

शर्मा के घर से जब्त किया ये सामान

मुंबई पुलिस के पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा के घर पर सुबह-सुबह एनआईए की टीम पहुंची। एनआईए की टीम जेबी नगर इलाके के अंधेरी स्थित प्रदीप शर्मा के घर पर घंटों तलाशी लेती रही। शर्मा पर एंटीलिया केस में सबूत मिटाने और साजिश में शामिल होने का आरोप है। प्रदीप शर्मा को सचिन वाज़े का मेंटर भी कहा जाता है। उससे पहले एनआईए ने पूछताछ की थी। एक दर्जन से ज्यादा की संख्या में NIA के लोग शर्मा के घर को खंगाल रहे थे। सूत्रों के मुताबिक, शर्मा के मोबाइल फोन, लैपटॉप समेत कई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को NIA ने जब्त किया है।

प्रदीप शर्मा जांच एजेंसी के रडार पर कैसे आए?

बताया जा रहा है कि मनसुख के मर्डर से कुछ दिन पहले सचिन वझे और एक शख्स के बीच अंधेरी इलाके में स्थित एक बैठक हुई थी, प्रदीप शर्मा भी इसी इलाके में रहते हैं। जांच एजेंसी को आशंका है कि मीटिंग सचिन वझे और शर्मा के बीच हुई। इसके अलावा एक सीसीटीवी फुटेज में सचिन वझे और विनायक शिंदे बांद्रा वर्ली सी लिंक पर कार में बैठे दिखाई दिए। एजेंसी का मानना है कि ये दोनों अंधेरी में शर्मा से मिलने ही जा रहे थे। क्योंकि मनसुख हिरेन को जिस नंबर से कॉल कर बुलाया गया, उसका आखिरी लोकेशन भी अंधेरी का जेबी नगर था।

क्या है मामला?

गौरतलब है कि इस साल 25 फरवरी को दक्षिण मुंबई स्थित एंटीलिया के पास एक लावारिस एसयूवी मिली थी। इस एसयूवी में जिलेटिन की छड़ें थी। बाद में इस एसयूवी के मालिक मनसुख हीरेन की 5 मार्च को मुंब्रा नाले में लाश मिली थी। मनसुख के परिजनों ने हत्या का आरोप सचिन वाजे पर लगाया था। इस पूरे केस की छानबीन एनआईए कर रही है।

Related posts