PNB घोटाला: नीरव मोदी को भारत लाने का रास्ता साफ, लंदन की कोर्ट ने दी मंजूरी, कहा- दोषी साबित होने लायक हैं सबूत

nirav modi,nirav modi in jail,nirav modi case,nirav modi bank account seize

चैतन्य भारत न्यूज

PNB घोटाले में वॉन्टेड हीरा कारोबारी नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण पर ब्रिटेन की कोर्ट में गुरुवार को आखिरी सुनवाई हुई। अपने मामा मेहुल चौकसी के साथ मिलकर 14 हजार करोड़ रुपए से अधिक का घोटाला करने वाले नीरव मोदी को ब्रिटिश अदालत में बड़ा झटका लगा है। इसमें कोर्ट ने नीरव को भारत भेजने की मंजूरी दे दी।

49 वर्षीय नीरव मोदी के दक्षिण-पश्चिम लंदन स्थित वॉन्ड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिए वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पेश हुआ। मामले की सुनवाई शुरू करते हुए कोर्ट ने कहा कि, ‘मैंने भारत सरकार द्वारा प्रस्तुत सभी साक्ष्यों को स्वीकार कर लिया है। मैं इस बात से संतुष्ट हूं कि इस बात के सबूत हैं कि नीरव मोदी को दोषी ठहराया जा सकता है।’

जज सैमुअल गोजी ने कहा कि, ‘यह पूरी तरह से स्पष्ट है कि नीरव मोदी को भारत में कई सवालों के जवाब देने हैं। नीरव मोदी की ओर से दिए कई आपस में मेल नहीं खाते हैं।’ साथ ही जज ने यह भी कहा कि, ‘इस बात का कोई सबूत नहीं है कि अगर उन्हें प्रत्यर्पित किया गया तो उनके साथ न्याय नहीं होगा।’

जिला न्यायाधीश सैमुअल गूजी ने फैसला सुनाते हुए नीरव मोदी की ओर से मानसिक स्वास्थ्य को लेकर उठाए गए मुद्दों को खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि यदि नीरव का भारत में प्रत्यर्पण होता है तो उनके साथ अन्याय नहीं होगा। कोर्ट ने कहा कि मुंबई के ऑर्थर रोड जेल का बैरक 12 नीरव मोदी के लिए फिट है।

बता दें नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के 14 हजार करोड़ से भी अधिक के लोन की धोखाधड़ी का आरोप है। इस समय लंदन की वांड्सवर्थ जेल में बंद है। उसे प्रत्यर्पण कर भारत लाने के लिए कोर्ट में मामला चल रहा था। कोर्ट के फैसले के बाद उस पर अंतिम मुहर लगाने के लिए यह मामला ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल के पास जाएगा।

Related posts