निर्भया के दोषियों के खिलाफ चौथा डेथ वारंट जारी, 20 मार्च को होगी फांसी

nirbhaya case,

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. निर्भया बलात्कार और हत्याकांड मामले में सभी दोषियों के पास कानूनी विकल्प खत्म होने के बाद दिल्ली की अदालत ने सभी के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी किया है। इस नए डेथ वारंट के अनुसार, सभी दोषियों को 20 मार्च सुबह साढ़े पांच बजे फांसी की सजा होगी। नया डेथ वॉरंट जारी होने पर निर्भया के परिजनों ने खुशी जाहिर की। वहीं, निर्भया के गुनहगारों के वकील एपी सिंह नाखुश दिखे।



बता दें, निर्भया कांड के चारों दोषियों के खिलाफ यह चौथी बार डेथ वारंट जारी किया गया है। इससे पहले 3 मार्च को फांसी देने का आदेश दिया गया था, लेकिन दोषी पवन की दया याचिका राष्ट्रपति के पास लंबित होने की वजह से इस दिन फांसी नहीं दी जा सकी।

गुनहगारों के वकील एपी सिंह ने आक्रोशित होते हुए कहा कि, ‘2013 में चारों दोषियों को फांसी दी गई। फिर हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने फांसी दी। इसके बाद पुनर्विचार याचिका में चारों गुनहगारों को फांसी दी गई। फिर क्यूरेटिव पिटिशन जब खारिज हुई तब फांसी दी गई। दया याचिका खारिज हुई तब फांसी दी गई। तीन बार और फांसी दे चुके हैं। मैं जानना चाहता हूं कि आप कितनी बार फांसी देंगे।’

गौरतलब है कि, निर्भया के साथ 16 दिसंबर, 2012 को दक्षिणी दिल्ली में चलती बस में सामूहिक बलात्कार और उस पर बर्बरता से हमला किया गया था। निर्भया को बेहतर चिकित्सा के लिए सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल ले जाया गया था जहां 29 दिसंबर को उसकी मौत हो गई थी।

ये भी पढ़े…

7 साल बाद भी झकझोर कर रख देता है निर्भया कांड, जानें उस काली रात की पूरी कहानी

निर्भया केस: फांसी रुकवाने के लिए दोषी अक्षय ने आजमाया यह पैंतरा

निर्भया केसः दोषी विनय के वकील का दावा- उसे तिहाड़ में दिया गया धीमा जहर

Related posts