निर्भया का एक और दोषी पहुंचा SC, दायर की क्यूरेटिव पिटीशन

nirbhaya,nirbhaya case, nirbhaya gangrape

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. निर्भया सामूहिक दुष्कर्म के दोषी विनय कुमार शर्मा के बाद अब एक और दोषी मुकेश सिंह ने भी सुप्रीम कोर्ट में (सुधारात्मक याचिका) क्यूरेटिव पिटीशन दायर की है। मुकेश सिंह के वकील ने गुरुवार शाम को याचिका दायर की। इससे पहले विनय ने गुरुवार को ही दिन में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की थी।



दोषी विनय ने अपनी क्यूरेटिव पिटीशन में कहा था कि, ‘सोचे समझे तरीके से उसके खिलाफ पक्षपात किया गया है। इस सुनियोजित पक्षपात और राजनीतिक पक्षपात को खत्म करने के लिए अनिवार्य है कि सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ जज उसकी याचिका पर खुली अदालत में सुनवाई करें। इस कार्रवाई में जो डेथ वारंट की तलवार लटकाई गई है। उसे दूर किया जाए और डेथ वारंट पर रोक लगाई जाए।’

बता दें शीर्ष अदालत के फैसले पर पुनर्विचार याचिका खारिज होने के बाद दोषियों के पास यह अंतिम कानूनी विकल्प बचा है। हालांकि, बाकी दो दोषियों अक्षय और पवन ने अभी तक सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर नहीं की है। गौरतलब है कि दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार (7 जनवरी) को ही चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी कर दिया था।

क्या है क्यूरेटिव पिटीशन?

क्यूरेटिव पिटीशन दोषियों को कानून की तरफ से मिलने वाला एक अधिकार है। इस पिटीशन को तब दाखिल किया जाता है, जब किसी दोषी की राष्ट्रपति के पास भेजी गई दया याचिका और सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी जाती है। ऐसे में क्यूरेटिव पिटीशन दोषी के पास मौजूद अंतिम मौका होता है, जिसके द्वारा वह अपने लिए निर्धारित की गई सजा में नरमी की गुहार लगा सकता है।

ये भी पढ़े…

निर्भया केस : दोषी विनय ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की क्यूरेटिव पिटीशन, 22 जनवरी को होनी है फांसी

निर्भया कांड के दरिंदों को फांसी पर लटकाएगा मेरठ का पवन जल्लाद, योगी सरकार ने दी इजाजत

16 दिसंबर 2012: जब पार हुई थी इंसानियत की सारी हद, निर्भया की मां ने कहा- पहली बार घर में बेटी की लाश आई

Related posts