निर्भया केस: दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी, अब 3 मार्च को सुबह 6 बजे होगी फांसी

nirbhaya case,nirbhaya case latest apdate

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में हुए निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले के चारों दोषियों के खिलाफ तीसरा डेथ वारंट जारी हुआ है। सोमवार को लगभग 1 घंटे तक चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने दोषियों को 3 मार्च के दिन सुबह 6 बजे फांसी दी जाएगी।



आज करीब 2 बजे सुनवाई शुरू हुई थी। इस दौरान सरकारी वकील ने कहा कि, ‘3 दोषियों अक्षय, विनय और मुकेश की दया याचिका खारिज हो चुकी है। एक दोषी पवन की ओर से इस मामले में दया याचिका और क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल होनी बाकी है।’ सरकारी वकील ने आगे कहा कि, ‘हाइकोर्ट की तरफ से दी गई एक सप्ताह की मियाद भी 11 फरवरी को समाप्त हो चुकी है।’ उन्होंने कोर्ट में दलील दी कि, ‘फिलहाल किसी भी दोषी की कोई भी याचिका किसी भी कोर्ट में लंबित नहीं है, इसलिए नया डेथ वारंट जारी किया जा सकता है।’

विनय ने खाना-पीना छोड़ा 

सरकारी वकील की दलील के बाद दोषियों के वकील एपी सिंह ने कोर्ट में कहा कि, ‘विनय की मानसिक हालत ठीक नहीं है।’ उन्होंने आगे कहा कि, ‘उसकी हालत इतनी ज्यादा खराब है कि उसने 11 फरवरी से खाना-पीना तक छोड़ दिया है। आज विनय की मां जेल में उससे मिलने गई थीं, विनय के पूरे सर पर पट्टियां बढ़ी हुई थीं। यह गंभीर मामला है।’

विनय के सिर पर चोट!

एपी सिंह ने कोर्ट में विनय की मेडिकल रिपोर्ट मंगवाने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि, विनय के सिर में भी काफी चोट आई है। जेल सुपरिटेंडेंट से रिपोर्ट मंगाते हुए जेल मैनुअल का ध्यान रखने को कहा जाना चाहिए। वकील ने कोर्ट में कहा कि, ‘विनय के सिर में भी काफी चोट आई है। जेल सुपरिटेंडेंट से रिपोर्ट मंगाते हुए जेल मैनुअल का ध्यान रखने को कहा जाना चाहिए।’

फिर से दया याचिका लगाना चाहता है अक्षय

एपी सिंह ने बताया कि, ‘हम एक बार फिर अक्षय की दया याचिका लगाना चाहते हैं। पिछली बार कुछ दस्तावेज लगाए जाने बाकी रह गए थे। अक्षय के माता-पिता ने दया याचिका आधी-अधूरी लगाई थी। अगर कोर्ट हमें परमिशन दे, तो हम आज अक्षय का हस्ताक्षर कराकर राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगा देंगे।’

मुकेश को केस से मुक्त किया जाए 

वहीं दोषी पवन के वकील रवि काजी ने कोर्ट को बताया कि, ‘वह भी क्यूरेटिव और दया याचिका लगाना चाहता है।’ उन्होंने कहा कि, ‘पवन ने दया याचिका और क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल करने की इच्छा जताई है।’ वहीं मुकेश की वकील वृंदा ग्रोवर ने कोर्ट को बताया कि, ‘मुकेश ने अब उनसे कानूनी मदद नहीं लेने की इच्छा जताई है, इसलिए उन्हें इस केस से मुक्त किया जाए।’ कोर्ट ने ग्रोवर की मांग मान ली।

ये भी पढ़े…

निर्भया केस: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी विनय की याचिका, कहा- मानसिक हालत बिलकुल ठीक है

डेथ वारंट जारी न होने पर रो पड़ीं निर्भया की मां, कोर्ट के बाहर जमकर की नारेबाजी

निर्भया केस: कोर्ट का नया डेथ वारंट जारी करने से इनकार, कहा- जब कानून जिंदा रहने की इजाजत देता है तो फांसी देना पाप

Related posts