निर्भया केस: दोषी मुकेश का बड़ा खुलासा- जेल में मुझे अक्षय के साथ ‘शारीरिक संबंध’ बनाने को कहा गया

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. साल 2012 में हुए निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में मौत की सजा पाए चारों दोषियों में से एक मुकेश सिंह की याचिका पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान मुकेश की वकील अंजना प्रकाश ने बताया कि, ‘जेल में मुकेश सिंह का ‘यौन उत्पीड़न’ हुआ था।’


अक्षय के साथ शारीरिक संबंध बनाने को कहा

बता दें मुकेश ने अपनी दया याचिका को खारिज होने को चुनौती दी है। जस्टिस आर भानुमति, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एएस बोपन्ना की पीठ ने इस मामले की सुनवाई की। मुकेश की वकील अंजना प्रकाश ने तिहाड़ प्रशासन पर बड़े आरोप लगाते हुए कहा कि, तिहाड़ जेल में मुकेश को अन्य आरोपी अक्षय के साथ सबके सामने शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहा गया।’

‘5 साल से ठीक से सो नहीं पाया’

मुकेश की वकील का कहना है कि, ‘जेल में मुकेश को पहले दिन से ही मारा जा रहा है और पांच साल से वह डर से सो नहीं पाया है। जब भी वह सोता है तो उसे मौत के और पिटाई के सपने आते हैं। इस दौरान जेल प्रशासन सारी चीजें सिर्फ देखता रहा।’ मुकेश की वकील ने कहा कि, ‘मेरे मुवक्किल को दया याचिका खारिज होने से पहले ही काल कोठरी में डाल दिया गया, ये जेल मैन्युअल के खिलाफ है।’

1 फरवरी को होनी है फांसी

गौरतलब है कि दोषी मुकेश कुमार सिंह की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 17 जनवरी को ही खारिज कर दिया था। इसके बाद उसने राष्ट्रपति के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। बता दें निर्भया के चारों दोषियों मुकेश, अक्षय, विनय और पवन को नए डेथ वारंट के तहत 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी दी जानी है।

ये भी पढ़े…

निर्भया केसः दोषी विनय के वकील का दावा- उसे तिहाड़ में दिया गया धीमा जहर

निर्भया केस: दोषियों का फांसी से बचने का एक और हथकंडा हुआ फेल, कोर्ट ने आदेश देने से किया इनकार

निर्भया केस: खुद को नाबालिग बता रहा था दोषी पवन गुप्ता, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका

Related posts