डेथ वारंट जारी होते ही दोषियों के चेहरे पर छाया मौत का खौफ, खाना-पीना भी छोड़ा

nirbhaya case,delhi gangrape,delhi news,gangrape

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. 16 दिसंबर 2012 को चलती बस में निर्भया के साथ दरिंदगी करने वाले चारों दोषी तिहाड़ जेल में बंद हैं और 22 जनवरी को इन्हें फांसी दी जानी है। निर्भया मामले में दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी होने के बाद तिहाड़ जेल में उनकी रात करवट बदलते बीती। फांसी के खौफ का आलम यह रहा कि दोषियों ने मंगलवार को खाना भी नहीं खाया।




तिहाड़ जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, चारों दोषियों के परिजनों को मिलने के लिए चिट्टी या अन्य त्वरित संदेश अभी नहीं भेजा गया है। अगर चारों दोषी इस बात की इच्छा जताएंगे कि उनके परिजनों को बुलाया जाए तो संदेश जारी कर दिया जाएगा। अगर किसी दोषी ने मना किया तो संदेश नहीं भेजा जाएगा। जेल अधिकारियों का कहना है कि उनके व्यवहार पर नजर रखी जा रही है। कहीं ऐसा न हो कि आक्रामक व्यवहार के बीच वे खुद को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करें, इसे ध्यान में रख सीसीटीवी फुटेज पर एक कर्मचारी हमेशा नजर रख रहा है।

कहा जा रहा है कि, पहले की तुलना में अब वे आक्रामक व्यवहार करने लगे हैं। उन्हें मामूली बात पर भी गुस्सा आ रहा है और पहले की तुलना में कम बात करते हैं। चारों गुनाहगार में से तीन दोषी अक्षय, पवन तथा मुकेश जेल नंबर दो में बंद हैं जबकि विनय शर्मा जेल नंबर तीन मेंबंद हैं। चारों को अलग-अलग सेल में रखा गया है।

जेल सूत्रों का कहना है कि बुधवार सुबह करीब दस बजे चारों दोषियों को जेल के अस्पताल में ले जाया गया और उनकी डॉक्टरी जांच कराई गई। उसके बाद उन्हें वापस सेल में बंद कर दिया गया। इस दौरान चारों दोषी तनाव में थे। दोषी गुमशुम थे और जांच के दौरान डॉक्टरों से भी ठीक से बात नहीं की।

जानकारी के मुताबिक, चारों दोषियों की डॉक्टरी जांच 22 जनवरी तक प्रतिदिन कराई जाएगी। गौरतलब है कि दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार को निर्भया कांड के चारों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है। इन्हें 22 जनवरी की सुबह 7 बजे तिहाड़ जेल दिल्ली में फांसी दी जाएगी।

ये भी पढ़े…

निर्भया कांड के दरिंदों को फांसी पर लटकाएगा मेरठ का पवन जल्लाद, योगी सरकार ने दी इजाजत

निर्भया को मिला इंसाफ, 22 जनवरी को होगी चारों दोषियों को फांसी

16 दिसंबर 2012: जब पार हुई थी इंसानियत की सारी हद, निर्भया की मां ने कहा- पहली बार घर में बेटी की लाश आई

Related posts